Blog single photo

BCCI में आज से 'दादागीरी', सौरव गांगुली संभालेंगे अध्यक्ष पद की कमान

टीएम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली आज भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभालने जा रहे हैं। गांगुली बीसीसीआई के 39वें अध्यक्ष होंगे। वहीं जय शाह नए बीसीसीआई सचिव होंगे। इस तरह सौरव गांगुली के कार्यभार संभालते ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (COA) का 33 महीने से चला आ रहा शासन खत्म हो जाएगा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 अक्टूबर): टीएम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली आज भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभालने जा रहे हैं। गांगुली बीसीसीआई के 39वें अध्यक्ष होंगे। वहीं जय शाह नए बीसीसीआई सचिव होंगे। इस तरह सौरव गांगुली के कार्यभार संभालते ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (COA) का 33 महीने से चला आ रहा शासन खत्म हो जाएगा।  इस तरह एक बार फिर इस प्रभावशाली बोर्ड का कामकाज चुने हुए प्रतिनिधियों के संभालने का रास्ता साफ हो जाएगा। अब सौरभ गांगुली की अध्यक्षता में उनकी नई टीम ही BCCI के लिए फैसले लेगी। गौरतलब है किबीसीसीआई अध्यक्ष पद पर गांगुली का चयन सर्वसम्मति से हुआ है। गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह को बीसीसीआई का सचिव बनाया गया है। वहीं बीसीसीआई का उपाध्यक्ष उत्तराखंड के महीम वर्मा और बोर्ड का कोषाध्यक्ष केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर के छोटे भाई अरूण धूमल को बनाया गया है। केरल के जएश जॉर्ज को संयुक्त सचिव बनाया गया है।

प्रशासकों की समिति (COA) के प्रमुख विनोद राय ने साफ किया है कि यह बैठक एक आम बैठक होगी है। इस बैठक के बाद नए अध्यक्ष सौरभ गांगुली वार्षिक आम बैठक (एजीएम) की अध्यक्षता करेंगे। विनोद राय ने साफ किया की 'यह एक आम बैठक है क्योंकि इसमें पदाधिकारियों का चयन होता है। यह सीओए द्वारा चुनाव आयोजित कराने के लिए  बुलाई गई एक आम बैठक है। सीओए ने कभी भी वार्षिक आम बैठक या विशेष बैठक नहीं बुलाई है। सीओए का आदेश बीसीसीआई के प्रशासन को चलाने और लोढ़ा सुधारों के क्रियान्वयन में मदद करने के लिए  था। आम बैठक में विभिन्न राज्यों के सभी उम्मीदवार शामिल हैं।'  

सौरव गांगुली इस पद पर 9 महीने तक रहेंगे और उन्हें जुलाई में पद छोड़ना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि BCCI के नए संविधान के प्रावधानों के अनुसार छह साल के कार्यकाल के बाद एक ही व्यक्ति आगे उस पद पर नहीं रह सकते हैं. बता दें कि गांगुली इससे पहले बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष थे। बताया जा रहा है कि BCCI अध्यक्ष पद की कमान संभालते ही सौरव गांगुली कुछ अहम फैसले ले सकते हैं। गांगुली बोर्ड में प्रशासन को दुरुस्त करने और प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों के वेतन में बढोतरी जैसे मामलों को फैसला कर सकते हैं। सौरव गांगुली के सामने क्रिकेट सलाहकार समिति और राष्ट्रीय चयन समिति में अच्छे प्लेयर्स को लाने की भी चुनौती होगी।

(Image Credit: Google)

Tags :

NEXT STORY
Top