Blog single photo

बीसीसीआई अध्यक्ष पद संभालने से पहले सौरव गांगुली ने दिखाए तेवर

पूर्व कप्तान सौरव गांगली ने बीसीसीआई अध्यक्ष के लिए सोमवार को नामांकन कर दिया है। गांगुली के खिलाफ कोई भी दूसरा उम्मीदवार नहीं है। वह निर्विरोध इस पर पर काबिज होने को तैयार हैं।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 अक्टूबर):  पूर्व कप्तान सौरव गांगली ने बीसीसीआई अध्यक्ष के लिए सोमवार को नामांकन कर दिया है। गांगुली के खिलाफ कोई भी दूसरा उम्मीदवार नहीं है। वह निर्विरोध इस पर पर काबिज होने को तैयार हैं। मुंबई में नामांकन दाखिल करने के बाद उन्होंने जिस अंदाज में सवालों के जवाब दिए, उससे तो ऐसा ही लगता है कि 'दादा' के तेवर प्रशासक के तौर पर भी देखने को मिल सकते हैं। हालांकि, 'प्रिंस ऑफ कोलकाता' के नाम से मशहूर गांगुली के लिए अपने 10 महीने के कार्यकाल में मुश्किलें भी कम नहीं होंगी। उनपर बोर्ड के कामकाज को पारदर्शी बनाने की जिम्मेदारी होगी।

क्रिकेट असोसिएशन ऑफ बंगाल (सीएबी) के मौजूदा अध्यक्ष गांगुली ने ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर करीब 17 साल पहले अपनी टीशर्ट उतारकर लहराई थी। तब वह टीम के कप्तान थे। अब वह क्रिकेट प्रशासक के तौर पर अपनी बड़ी पारी शुरू करने जा रहे हैं और इस पद पर आक्रामकता से ज्यादा व्यवहार कुशलता, मजबूत प्रबंधन और कूटनीति की जरूरत होती है।

47 वर्षीय गांगुली से जब पूछा गया कि पद संभालने के बाद उनकी क्या प्राथमिकताएं होंगी तो उन्होंने उसी आक्रामकता भरे अंदाज में जवाब दिया, जिसके लिए वह पहले से मशहूर हैं। उन्होंने कहा, 'मेरी पहली प्राथमिकता फर्स्ट क्लास क्रिकेट को देखने की रहेगी। मैंने प्रशासकों की समिति (सीओए) से आग्रह किया था, लेकिन मेरी तब सुनी नहीं गई।'

माना जा रहा है कि वह क्रिकेट प्रशासन में भी उसी अंदाज में रहेंगे, जैसे वह टीम इंडिया के कप्तान के तौर पर गेंदबाजों से बातचीत करते थे। गांगुली को बेहद आक्रामक कप्तान माना जाता है और कहा जाता है कि वह अपने फैसले पर अड़िग रहते थे। अब बीसीसीआई अध्यक्ष के तौर पर भी उनका वही अंदाज देखने को मिल सकता है।

Tags :

NEXT STORY
Top