Blog single photo

गांगुली के नेतृत्व में बीसीसीआई की पहली एजीएम, उठ सकता है जौहरी का 'मी टू' मामला

बीसीसीआई (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली (sourav ganguly) के अध्यक्षता में आज वार्षिक आम बैठक का आयोजन होगा। इस बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा होगी। इस बैठक में 12 मुद्दों पर चर्चा होनी है और इनमें से एक मुद्दा बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CIO)राहुल जौहरी पर लगे यौन शोषण आरोप का मुद्दा भी शामिल हो सकता है।

BCCI

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(1 दिसंबर):  बीसीसीआई (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली (sourav ganguly) के अध्यक्षता में आज वार्षिक आम बैठक का आयोजन होगा। इस बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा होगी। इस बैठक में 12 मुद्दों पर चर्चा होनी है और इनमें से एक मुद्दा बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CIO)राहुल जौहरी पर लगे यौन शोषण आरोप का मुद्दा भी शामिल हो सकता है।

बैठक में आईसीसी (ICC) में बोर्ड का प्रतिनिधि नियुक्त करने पर भी चर्चा होने की संभावना है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (COA) ने 33 महीने तक बोर्ड का संचालन किया जिसके बाद पिछले महीने गांगुली (sourav ganguly) की अगुआई में नए पदाधिकारियों ने कामकाज संभाला। बीसीसीआई (BCCI) यदि सुधारवादी कदमों में ढिलाई देता है तो गांगुली (sourav ganguly) का नौ महीने का मौजूदा कार्यकाल बढ़ सकता है। रिटायर्ड जस्टिस लोढ़ा कमिटी के सुधारवादी कदमों को सुप्रीम कोर्ट से स्वीकृति मिली हुई है। मौजूदा संविधान के अनुसार अगर कोई पदाधिकारी बोर्ड और स्टेट असोसिएशन को मिलाकर कुल 6 वर्ष का कार्यकाल पूरा कर लेता है तो उसे तीन साल का अनिवार्य ब्रेक लेना होगा। मौजूदा पदाधिकारी चाहते हैं कि अनिवार्य ब्रेक का नियम तभी लागू हो जब किसी पदाधिकारी ने बोर्ड या फिर स्टेट असोसिएशन में 6 साल का कार्यकाल पूरा कर लिया हो।

नई क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) का भी गठन किया जा सकता है जिसमें दिग्गज सचिन तेंडुलकर (sachin tendulkar) और वीवीएस लक्ष्मण की वापसी हो सकती है। पहले इस कमिटी में मौजूदा बोर्ड अध्यक्ष और पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली (sourav ganguly) भी थे। चूंकि अब वह बीसीसीआई (BCCI) चीफ बन चुके हैं इसलिए वह अब कमिटी का हिस्सा नहीं बन सकते। वहीं सूत्रों की मानें, तो नई सलाहकार समिति (सीएसी) का भी गठन किया जाएगा, जिसमें सचिन तेंदलुकर (sachin tendulkar) और वीवीएस लक्ष्मण की वापसी हो सकती है। सचिन, लक्ष्मण बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली के साथ पहली सीएसी में थे।

हाल ही में दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (DDCA) के अध्यक्ष रजत शर्मा के इस्तीफा देने के बाद विनोद तिहारा एजीएम में डीडीसीए का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं। सूत्रों की मानें तो एजीएम में राज्य संघों के लिए कूलिंग ऑफ पीरियड को भी हटाया जा सकता है और समिति तथा उप समिति में 70 साल की उम्र सीमा को लेकर भी बदलाव किए जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: धोनी को लेकर दादा का बयान-कुछ बातें सार्वजनिक नहीं बता सकता

Tags :

NEXT STORY
Top