अब यहां आपका चेहरा ही करेगा पासपोर्ट का काम

नई दिल्ली ( 23 जनवरी ): अभी तक आपको किसी दूसरे देश में जाने पर आपको पासपोर्ट की जरूरत पड़ती है, लेकिन अब इस देश में आपका चेहरा ही आपके पासपोर्ट का काम करेगा। जी हां ऑस्ट्रेलिया ने रविवार को अपने सभी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा का ऐलान किया। इसके साथ ही साल 2020 तक एक ऐसी तकनीक का इजात करेगा जिससे यात्रियों की पहचान के लिए पासपोर्ट की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। इसके लिए उनका चेहरा ही काफी होगा।


यहां का इमिग्रेशन डिपार्टमेंट यात्रियों की पहचान के लिए सेल्फ-प्रोसेसिंग सिस्टम पर काम कर रहा है। आने वाले वक्त में सुरक्षा सम्बन्धी जांचों के लिए पासपोर्ट या किसी और कागजात का नहीं बल्कि फिंगरप्रिंट, आंख की पुतली और चेहरे का सहारा लिया जाएगा। प्रमुख हवाई अड्डों और बंदरगाहों पर जल्दी ही इस व्यवस्था को शुरू किया जाएगा।


इमिग्रेशन मिनिस्टर पीटर डटन ने कहा कि उनका मकसद स्टाफ के पेपरवर्क और मैन्युअल प्रोसिसिंग को 90% तक कम करने का है। उन्होंने कहा,'हो सकता है कि आने वाले वक्त में लोगों को पासपोर्ट लेकर चलने की जरूरत ही न पड़े। इसके अलावा इससे एयरपोर्ट पर होनी वाली चेकिंग और बाकी मुश्किलों से भी काफी हद तक निजात मिलेगी।'

फिलहाल ऑस्ट्रेलिया के हवाई अड्डों पर स्मार्टगेट हैं जो पासपोर्ट को स्कैन कर लेते हैं। यह व्यवस्था तकरीबन 10 साल पहले शुरू की गई थी।