कॉलेज में ही मिलेगा छात्रों को लर्निंग लाइसेंस

मुंबई( 12 जनवरी ): मुंबई में बड़ी संख्या में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए छात्र आवेदकों के आवेदन देखकर रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (RTO)की तरफ से कॉलेज में ही ड्राइविंग लाइसेंस देने की पहल की जा रही है। दादर के कीर्ति कॉलेज में जनवरी की 16 तारीक से टु व्हीलर और फॉर व्हीलर के लाइसेंस छात्रों को कॉलेज में ही उपलब्ध कराए जाएंगे।

महाराष्ट्र ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री की ओर से स्टूडेंट्स के लिए कॉलेज में ही ड्राइविंग टेस्ट की व्यवस्था कराई जाएगी। विद्यार्थी लाइसेंस के लिए जरूरी कागजात कॉलेज में ही लेकर आएंगे और कॉलेज में ही उनका वेरिफिकेशन करने के बाद छात्र को लर्निंग लाइसेंस दिया जाएगा। यह व्यवस्था बड़ी संख्या में लर्निंग लाइसेंस के लिए छात्रों के आवेदनों के मद्देनजर की गई है।

महाराष्ट्र ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री का मानना है कि कॉलेज में यह व्यवस्था होने से छात्र को आरटीओ की लाइन में लगने से मुक्ति मिलेगी। जिससे उनका वक्त बचेगा। साथ ही आरटीओ पर भी कम भीड़ होगी जिससे वहां का कामकाज सुचारू रूप से चलाने में मदद मिलेगी। सीनियर आरटीओ ऑफिस से जुड़े सूत्रों के अनुसार, कॉलेज की लैब में ही कंप्यूटर्स में सॉफ्टवेयर अपलोड करा दिया जाएगा, ताकि छात्रों का टेस्ट कॉलेज में ही लिया जा सके। हर सिस्टम पर अलग सवाल होंगे, ताकि चीटिंग की दिक्कत से बचा जा सके। सीनियर ट्रांसपोर्ट ऑफिसर ने बताया कि हर कॉलेज में कम से कम 

एक आरटीओ ऑफिसर को तैनात किया जाएगा, जो छात्र को यातायात से संबंधित नियमों की जानकारी देंगे। कंप्यूटर्स पर टेस्ट के बाद पेपर चैक करने में तकरीबन आधा घंटे का वक्त लगेगा। जिसके बाद लर्निंग लाइसेंस दे दिया जाएगा।