मोदी ने सुनी बीमार पिता के बच्‍चों की गुहार, इलाज शुरू

कानपुर (2 मार्च): बीमार पिता के इलाज के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम दो मासूम बच्चों के एक पत्र पर पीएम ऑफिस ने तुरंत कार्रवाई की और कानपुर के जिलाधिकारी को इलाज में मदद करने को कहा। जिसके बाद बच्चों के बीमार पिता का इलाज तुरंत शुरू हो गया।

खबर के अनुसार, स्कूली यूनिफॉर्म की सिलाई का काम करने वाले नौबस्ता के संजय गांधी नगर के 50 वर्षीय सरोज मिश्रा पिछले दो साल से अस्थमा से बुरी तरह पीड़ित हैं। बीमारी के चलते उनका काम बंद होने से घर की आर्थिक स्थिति खराब हो गई तथा उनके बेटे सुशांत (13) व तनमय (8 साल) की पढ़ाई पर भी संकट आ गया। तब बच्चों ने 28 जनवरी 2016 को प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर अपने पिता का इलाज कराने की बात कही। इसपर प्रधानमंत्री कार्यालय से मिश्रा का तुरंत इलाज कराने के लिये कानपुर के डीएम कौशल राज शर्मा को कहा गया। शर्मा ने बताया कि मिश्रा का इलाज कराने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय से पत्र आया तो उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को सरोज का बेहतर इलाज कराने के निर्देश दिए।

सीएमओ डॉ. रामायण प्रसाद यादव ने बताया कि जिला अस्पताल उर्सला में मिश्रा का पूरा चेक अप किया गया। चेकअप में पाया गया कि वह बुरी तरह से अस्थमा रोग से पीड़ित है। उन्हें विशेषज्ञ की निगरानी में रखा गया और जरूरी दवायें दी गयीं। मिश्रा को एक हफ्ते बाद फिर अस्पताल बुलाया गया है। अगर दवाओं से उनकी तबियत नहीं सुधरी तो उन्हें अस्पताल में भर्ती कर उनका इलाज किया जाएगा। चेकअप, इलाज और दवाओं के लिए मिश्रा से कोई शुल्क नहीं लिया जा रहा है।