पत्रकार जमाल खशोगी के बेटों ने सऊदी अरब से पिता का मांगा शव

                                                      image source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 5 नवंबर ): सऊदी अरब के दूतावास में मारे गए पत्रकार जमाल खशोगी के बेटों ने सऊदी अधिकारियों से अपने पिता का शव लौटाने की मांग की है। ताकि परिवार उनकी मौत का मातम मना सके। बेटों का कहना है कि उनके पिता का शव को सऊदी के मदीना में दफनाकर उनका अंतिम संस्कार कर सकें। पत्रकार के परिवार ने रविवार को दिए एक साक्षात्कार में ये बातें कहीं। तुर्की में दो अक्टूबर को सऊदी अरब की एक टीम ने देश के वाणिज्य दूतावास के अंदर खशोगी की हत्या कर दी थी।

तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा कि इस हत्या का आदेश सऊदी अरब सरकार के उच्च स्तरीय अधिकारियों ने दिया था। खशोगी के पुत्र अब्दुल्ला खशोगी ने वॉशिंगटन में अमेरिकी टेलीविजन नेटवर्क को साक्षात्कार के दौरान बताया, "मुझे उम्मीद है कि जो कुछ भी हुआ वह उनके लिये पीड़ादायक नहीं रहा होगा, या फिर यह बहुत जल्दबाजी में हुआ होगा या फिर उन्हें शांतिपूर्ण मौत मिली होगी।"

उनके भाई सालेह ने कहा कि इस वक्त हम सिर्फ यही चाहते हैं कि हम उनके पूरे परिवार के साथ मदीना के अल बाकी में उन्हें सुपुर्द-ए-खाक कर सकें। उन्होंने कहा, 'मैंने इस बारे में सऊदी अधिकारियों से बात की और मुझे उम्मीद है कि यह जल्द ही हो जाएगा।' तुर्की के मुख्य वकील ने हाल में कहा था कि खशोगी जैसे ही वाणिज्य दूतावास के अंदर पहुंचे उनका गला घोंट दिया गया और उन्होंने इस बात की भी पुष्टि की कि उनके शव के टुकड़े किए गये।

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन के सलाहकार यासिन आकते ने शुक्रवार को प्रकाशित एक लेख में आशंका जतायी कि हो सकता है कि उनके शव को तेजाब में डालकर नष्ट कर दिया गया हो। इस हत्याकांड की पूरी दुनिया में निंदा की गई, जिसके बाद सऊदी के क्राउन प्रिंस ने भी कहा कि खशोगी की हत्या दुखद है। जमाल खशोगी क्राउन प्रिंस के आलोचकों में से थे।