नाबालिग रेप पीड़िता से मिलने AIIMS पहुंची सोनिया गांधी, केजरीवाल ने भी की मुलाकात

नई दिल्ली (26 मई): देश की राजधानी में रेप के मामले रुकने को नाम नहीं ले रहे हैं। नया मामला दक्षिण-पूर्वी दिल्ली के प्रह्लादपुर इलाके का है। यहां 13 साल की नाबालिग के साथ क्रूर तरीके से रेप कर उसे रेलवे ट्रैक के पास फेंक दिया गया। उसे एम्स में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी मेजर सर्जरी की गई है। सोनिया गांधी भी पीड़िता से मिलने के लिए निकल चुकी हैं। इससे पहले सीएम केजरीवाल बच्ची से मिलने एम्स गए। साथ ही दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालिवाल ने बुधवार को एम्स में लड़की से मुलाकात की।

केजरीवाल ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के सिलसिले में यह खतरे की स्थिति है। लेकिन हमारे हाथ में ज्यादा कुछ नहीं है, दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं मिला है। मैंने आज राजनाथ सिंह जी से मिलने के लिए टाइम मांगा। अगर लोकल लेवल पर एजेंसीज जनता के साथ मिलकर काम करें तो स्थिति सुधरेगी।

मिली जानकारी के अनुसार बच्ची के साथ यह क्रूरता उसके पड़ोसी में रहने वाले एक किशोर ने की है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसकी उम्र की पुष्टि की जा रही है।

कौन है नाबालिग पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पीड़िता पुल प्रह्लादपुर के पास एक गांव में अपनी मामी के साथ रहती है। वह 17 मई से घर से गायब थी। परिवार के लोगों ने खोजने की लाख कोशिश की लेकिन वे असफल रहे। इसके बाद पुल प्रह्लादपुर के पास से गुजरने वाले रेलवे ट्रैक के पास लोगों ने पीड़िता को बेहोशी की हालत में देखा और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद उसे एम्स में भर्ती कराया गया। 

डॉक्टर्स ने जांच के बाद उसके साथ बलात्कार होने की पुष्टि की। पुलिस ने मामले में भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं तथा पाक्सो कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालिवाल ने कहा​... पुलिस द्वारा स्थानीय लोगों से की गई पूछताछ में पता चला कि नाबालिग को अंतिम बार एक आवारा लड़के के साथ देखा गया था। दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालिवाल ने कहा कि लड़की से नृशंस बलात्कार किया गया और हमें संदेह है कि यह गैंगरेप का मामला है। वह मानसिक रूप से परेशान है। उसके शरीर पर गंभीर जख्म है। मालिवाल ने कहा कि उसकी बड़ी सर्जरी होनी है और डॉक्टरों के मुताबिक ठीक होने में कम से कम चार महीने का समय लगेगा। उसकी स्थिति अभी गंभीर है।