मिसाल: दर्जी के बेटे ने पहली बार में ही किया CA टॉप

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 जनवरी: द इंस्टिट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) ने बुधवार को सीए के फाइनल और फाउंडेशन का रिजल्ट जारी किया। इस बार 800 अंकों में से 597 अंक लाकर सीए फाइनल (पुराना सिलेबस) के टॉपर बने हैं कोटा, राजस्थान के निवासी शादाब हुसैन। शादाब हुसैन की कामयाबी खुद में एक प्रेरणा है। एक साधारण परिवार से आने वाले शादाब हुसैन ने पहली बार में ही सीए फाइनल को क्रैक कर लिया है। 

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, शादाब के पिता पेशे से दर्जी हैं जिन्होंने 10वीं क्लास तक पढ़ाई की है। शादाब ने कोटा यूनिवर्सिटी से बीकॉम किया उनके परिवार में चार बहनें और वह अकेले भाई हैं। भले ही उनके माता-पिता खुद ज्यादा शिक्षित नहीं हैं लेकिन उन्होंने अपने बच्चे की पढ़ाई में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी।  रिपोर्ट के मुताबिक शादाब ने बताया, 'नौकरी हासिल करने के लिए मैंने दिन-रात पढ़ाई की ताकि मेरे माता-पिता को अपने वृद्धावस्था के बारे में ज्यादा नहीं सोचना पड़े। मैंने सोचा की सीए एक ऐसा पेशा है जिसमें एक इंसान जिंदगी भर सीखता रहता है। काफी विचार-विमर्श और रिसर्च के बाद मैंने सीए बनने का लक्ष्य निर्धारित कर लिया।'अपनी परीक्षा रणनीति के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया, 'मैंने पेपर को पहले ध्यान से पढ़ा और तीन से चार सवाल ऐसे चुने जिससे मुझे 40 मार्क्स मिल सकते और उसको एक घंटे में हल करने की कोशिश की। इस तरह मैंने अपने दो घंटों को ज्यादा से ज्यादा मार्क्स हासिल करने पर बिताया और अपने स्कोर को बढ़ाने में मुझे कामयाबी मिली। इससे मुझे दूसरों पर बढ़त मिल गई।'