सोशल मीडिया पर नेहरु के खिलाफ फैलाए जा रहे हैं झूठ, जानें सच

                                                                                                              Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 नवंबर): भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के जीवन और व्यक्तित्व को लेकर सोशल मीडिया पर कई अफवाहें फैलाई जाती रही हैं। इतना ही नहीं उनके नाम को लेकर इंटरनेट पर कई लोग आपत्तिजनक बातें भी करते हैं। नेहरू के बारे में वर्चुअल वर्ड में अफवाहों की भरमार है। देश के पहले प्रधानमंत्री के बारे में कई अफवाहें हैं, चलिए अब आपको सिलसिले बार तरीके से बताते हैं कि चाचा नेहरु को लेकर सोशल मीडिया पर क्या अफवाहें फैलाई जा रही हैं।

सोशल मीडिया पर जो अफवाहें फैलाई जाती हैं उनमें से एक अफवा ये है कि नेहरू का जन्म इलाहाबद के एक वेश्यालय में हुआ था। नेहरू ने एक ईसाई नन को गर्भवती कर दिया था। चर्च ने उस नन को भारत से बाहर भेज दिया और इसके लिए नेहरू उसके आभारी थे। उनकी मौत सिफिलिस नाम के एक संक्रामक रोग से हुई।

इतना ही नहीं यहां तक कहा जाता है कि अमिताभ बच्चन नेहरू के बेटे हैं।

और भी हैं कई अफवाह
इन सब के अलावा भी नेहरू के बारे में आपको इंटरनेट पर काफी कुछ आपत्तिजनक जानकारियां मिल जाएंगी। इन बातों का असलियत से कोई लेना-देना नहीं। आजाद भारत की बुनियाद रखने में नेहरू का कितना योगदान है, इसे बताने की जरूरत नहीं। इंटरनेट पर आपको उनके बारे में ऐसी कहानियां/ सस्ती अफवाहें मिल जाएंगी कि आप ताज्जुब में पड़ जाएंगे।

हद तो तब हो गई जब सोशल मीडिया पर लोगो ये कहते हुए नजर आए कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को भी पंडित जवाहर लाल नेहरु ने मारा था। नेहरू के बारे में कई आपत्तिजनक और भ्रामक बातें दशकों से चलन में हैं। RSS के पूर्व सरसंघचालक के.एस. सुदर्शन ने दावा किया था कि नेहरू ने गांधी की हत्या की थी। सेंटा क्लारा यूनिवर्सिटी में मीडिया अध्ययन के प्रफेसर रोहित चोपड़ा ऑनलाइन हिंदुत्व पर भी काम करते हैं। उनका कहना है, 'ऐसी बातों ने कभी मुख्यधारा में पकड़ नहीं बनाई, लेकिन अब चूंकि ऑनलाइन की सुविधा है, तो ऐसी अफवाहों को वहां जिंदगी मिल जाती है।