अंतिम चरण की यात्रा पर दुनिया का पहला सोलर विमान

नई दिल्ली (24 जुलाई): दुनिया के पहले सोलर विमान इम्पल्स-2 ने अपनी अंतिम चरण की यात्रा के लिए काहिरा से अबू धाबी के लिए उड़ान भरी। विश्व भ्रमण पर निकले इस विमान को स्विस पायलट बरट्रैंड पिकार्ड और स्विस उद्यमी एंड्रे बॉर्शबर्ग उड़ा रहे हैं।

बॉर्शबर्ग ने नागोया, जापान तथा हवाई के बीच 4,000 मील की यात्रा के दौरान विमान के पायलट की भूमिका निभाई। यह विमान कई दिनों तक सिर्फ सूर्य की उर्जा से उड़ान भर सकता है।

सूरज की रोशनी से चार्ज होकर उड़ान भरने वाला ये दुनिया का पहला सोलर प्लेन है। 'सोलर इम्प्ल्स-2' बिना तेल के उड़ने वाला पहला हवाई जहाज है। विमान में लगी बैटरी सूर्य की रोशनी से चार्ज होती है और इसी की मदद से विमान रात में भी उड़ान भरता है।