OMG: सिर्फ 2 मिनट 13 सेकेंड्स में चांद पर पहुंचा देगी सोलर एक्सप्रेस

नई दिल्ली (7 फरवरी): अगर आप से कहा जाए कि आप सवा दो मिनट में चांद पर पहुंच जाएंगे तो आप क्‍या कहेंगे, क्या बकवास कर रहे हो...! लेकिन मन की गति से भी तेज चलने वाली एक्सप्रेस पर  कनाडा की एक इनोवेटिव फर्म चार्ल्स बॉम्बार्डियर काम कर रही है। कंपनी ने भविष्य की एक ऐसी सोलर एक्सप्रेस की कल्पना की है, जो धरती से अंतरिक्ष के बीच फेरे लगाएगी। इसे पृथ्वी से मंगल तक पहुंचने में महज 2 दिन का समय लगेगा। यही नहीं कश्मीर से कन्याकुमारी पहुंचने में इस ट्रेन को महज 1.20 सेकंड लगेंगे। यह ट्रेन मूल तौर पर डिब्बों की जगह सिलेंडरों की एक सीरीज होगी। हर सिलेंडर की लंबाई कम से कम 50 मीटर होगी। एक ट्रेन में ऐसे 6 सिलेंडर होंगे, इसकी लंबाई 300 मीटर होगी। हर सिलेंडर चार हिस्‍सों में बंटा होगा। यह विशेष सोलर एक्‍सप्रेस ग्रैविटी (गुरुत्‍वाकर्षण) का इस्‍तेमाल करेगी। इसकी मदद से वह धरती और अंतरिक्ष के बीच चक्कर लगाएगी।  इस इंजन का डिजाइन इंडस्ट्रीयल इंजीनियर ओलिविएर पेरैल्डी नामक कंपनी की साझेदारी में विकसित किया गया है। इस ट्रेन के चारों ओर एक सोलर पट्टी होगी, जिसकी मदद से यह ट्रेन एनर्जी गेन करेगी। यह ट्रेन एक बार स्टार्ट होकर अपने गंतव्य से पहले कभी स्‍लो नहीं होगी।