सोहराबुद्दीन-प्रजापति फर्जी एनकाउंटर मामले में आएगा फैसला

Photo: Google


न्यूज 24 ब्यूरो, संकेत पाठक, नई दिल्ली (21 दिसंबर):
सोहराबुद्दीन शेख-तुलसीराम प्रजापति के फर्जी एनकाउंटर मामले में 13 साल बाद आज  फैसला आने की संभावना है। साल 2005 के इस मामले में 22 लोग मुकदमे का सामना कर रहे हैं, जिनमें ज्यादातर पुलिसकर्मी हैं। मुम्बई की विशेष सीबीआई अदालत इस मामले की सुनवाई कर रही है।

इस मामले पर विशेष निगाह रही है, क्योंकि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आरोपियों में शामिल थे। हालांकि, उन्हें 2014 में आरोप मुक्त कर दिया गया था। शाह इन घटनाओं के वक्त गुजरात के गृह मंत्री थे। मुकदमे के दौरान  करीब 92 गवाह मुकर गए। इस महीने की शुरुआत में आखिरी दलीलें पूरी किए जाने के बाद सीबीआई मामलों के विशेष न्यायाधीश एसजे शर्मा ने कहा था कि वे 21 दिसंबर को फैसला सुनाएंगे। ज्यादातर आरोपी गुजरात और राजस्थान के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी हैं।

अदालत ने सीबीआई के आरोपपत्र में कुल 38 लोगों में 16 को सबूत के अभाव में आरोपमुक्त कर दिया है। इनमें अमित शाह, राजस्थान के तत्कालीन गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया, गुजरात पुलिस के पूर्व प्रमुख पीसी पांडे और गुजरात पुलिस के पूर्व वरिष्ठ अधिकारी डीजी वंजारा शामिल हैं।