सावधान, आपके फोन में है यह एप तो जा सकती है आपकी!

नई दिल्ली (16 मार्च): अगर आप सोच रहे हैं कि खतरा होने पर आपका मोबाइल एप अलार्म बजाकर या मैसेज भेजकर आपकी मदद करेगा तो आपको गलतफहमी है। हाल ही में सुरक्षा की गारंटी देने वाले कुछ टॉप मोबाइल एप पर किए सर्वे में इस बात का खुलासा हुआ है कि खतरा होने पर इनमें से ज्यादातर काम ही नहीं करते हैं।

बातचीत करने वाले ज्यादातर स्मार्टफोन ऐप खतरे के वक्त आपकी मदद करने की क्षमता नहीं रखते। शोधार्थियों ने इस अध्ययन के लिए सात अलग-अलग कंपनियों के 68 फोन और 77 बातचीत करने वाले ऐप का परीक्षण किया। कैलीफोर्निया की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोध के अनुसार, चार प्रसिद्ध स्मार्टफोन ऐप 'सिरी', कोर्ताना गूगल नाउ और एस व्यॉइस मानसिक, स्वास्थ्य, हिंसा और शारीरिक हिंसा संबंधित कुछ आसान से सवालों का जवाब देने में असफल रहे।

नतीजे बताते हैं कि इन उच्च तकनीकों में कुछ सुधार की जरूरत है। यह कृत्रिम सुरक्षा पहरेदार दैनिक जीवन का हिस्सा बनते जा रहे हैं, इसलिए एप निर्माताओं को इनके प्रदर्शन को सुधारना चाहिए।