फ्लाइट में क्यों सो जाते हैं पायलट...डीजीसीए ने बुलाई बैठक

नई दिल्ली (16 मार्च): एक महीने के अंदर दो बार विमान का  एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) से संपर्क टूट जाने की घटना से सतर्क हुए डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल ऐविएशन (डीजीसीए) ने भारतीय विमानन कंपनियों की इस सप्ताह बैठक बुलाई है। इस बैठक का मकसद ऐसी घटना से निपटने का तरीका खोजना है। बता दें कि 16 फरवरी को भारतीय जेट एयरवेज के विमान 9W 118 के एटीसी से संपर्क टूट गया था जिसके बाद जर्मनी ने विमान के पीछे अपने फाइटर जेट्स भेजे थे। 

ऐसी घटना एक महीने के अंदर दो बार हुई जिसके बाद डीजीसीए अलर्ट हुआ है। बताया जा रहा है कि इन दो घटनाओं पर डीजीसीए चीफ बी एस भुल्लर ने कड़ा रुख अख्तियार किया है। उन्होंने मौजूदा प्रक्रियाओं की समीक्षा के निर्देश भी दिए हैं। बैठक में इस बात को सुनिश्चित किए जाने का तरीका ढूंढा जाएगा कि उड़ान के दौरान कम से कम एक पायलट जगा हो ताकि एटीसी के कॉल का जवाब दिया जा सके।