JNU विवाद: राजनाथ से मिले CPM नेता येचुरी, वीडियो पर उठाए सवाल

नई दिल्ली(13 फरवरी): जेएनयू में देश विरोधी नारेबाजी के बाद खडा हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। सीपीएम के जनरल सेक्रेटरी सीताराम येचुरी ने शनिवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह से इस मामले पर मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि कैन्हया कुमार निर्दोष है और उसे बेवजह फंसाया जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि पूरे जेएनयू को देशद्रोही बताना पूरी तरह गलत है। वहीं, राजनाथ ने उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

गृहमंत्री से मुलाकात के बाद येचुरी ने पुष्टि की कि सरकार ने जिन बीस छात्रों की सूची बनाई है, उनमें डी. राजा की बेटी भी शामिल है। वहीं डी. राजा ने सभी आरोपों को नकारते हुए कहा कि यह सब बेबुनियाद है। मेरी और मेरी बेटी की देशभक्ति पर कोई सवाल खड़ा नहीं कर सकता। येचुरी ने कहा कि हमने देश के उच्च संस्थानों में आरएसएस की सोच लागू करने की कोशिश की जा रही है। हमने गृहमंत्री से मिलकर मांग की है कि मामले में बेकसूर लोगों को निशाना बनाया जा रहा है। जो लोग नारे लगा रहे थे और जिन लोगों पर देशद्रोह का आरोप लगा है, वो दोनों अलग हैं।

उन्होंने वीडियो की सत्यता पर सवाल उठाते हुए कहा कि उसमें डी राजा की बेटी के होने की बात भी कही जा रही है, लेकिन यह कौन साबित करेगा की वो फुटेज सही है। पहले तो यह साबित किया जाए कि यह घटना वहां हुई है। हमने गृहमंत्री से कहा है कि यह घटना इमरजेंसी के हालातों से भी बदतर है। उन्होंने आश्ववासन दिया है कि मामले में बेगुनाहों पर कार्रवाई नहीं होगी।

इससे पहले कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी पर कड़ा विरोध जाहिर करते हुए सीताराम येचुरी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा था कि जेएनयू में ऐसा क्या हुआ है जिसकी वजह से दिल्ली पुलिस जेएनयू परिसर के हॉस्टलों में रहने वाले छात्रों को जबरदस्ती गिरफ्तार करने लगी है। ऐसा कर केंद्र सरकार देश में एक अघोषित आपातकाल जैसी स्थिति बना रही है।