बहन-भाई में हुआ प्यार तो भागकर की शादी, फिर...

नई दिल्ली(27 मार्च): पंजाब से हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। एक प्रेमी जोड़े ने घर से भागकर शादी की जिसके बाद परिजनों ने उनपर हमला कर दिया। हैरान कर देने वाली बात ये है कि युवक-युवती रिश्ते में भाई-बहन थे और इसी कारण परिवार वाले उनकी शादी के खिलाफ थे। प्रेमी की जहां मौत हो गई, वहीं लड़की गंभीर रूप से घायल हो गई। जोड़े पर हमला लड़की के पिता और लड़के के भाई ने किया।

जानकारी के मुताबिक बरनाला के गांव भदौड की वीरपाल कौर का रिश्ते में लगने वाले भाई बठिंडा के गांव बुरज गिल के बलजीत सिंह के साथ प्रेम संबंध स्थापित हो गया। घर वालों को पता चला तो उन्होंने इसका विरोध किया और दोनों को इस तरह के संबंध रखने पर चेताया।

करीब साढ़े तीन माह पहले मौका पाकर वीरपाल और बलजीत मौका देखकर घर से भाग गए। 8 जनवरी 2016 को प्रेमी जोड़े ने शादी रचा ली थी। इसक बाद वे हंडिआया के किला मोहल्ला क्षेत्र में किराये पर मकान लेकर रहने लगी। लड़की पास के ही धौला में एक कंपनी में नौकरी करती थी।

शनिवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे रोज की तरह युवती को नौकरी पर जाने के लिए प्रेमी बरनाला-मानसा मुख्य सडक पर स्थित गांव धनौला खुर्द के बस अड्डे पर छोड़ने जा रहा था। दोनों पैदल ही जा रहे थे। वहां पहले से ही युवक का भाई और युवती का पिता घात लगाकर बैठे थे। उन्होंने मौका देखकर दोनों पर हमला कर दिया।

प्रेमी लड़का जान बचाने के लिए भागा, लेकिन उसका पैर एक कंटीली तार में उलझ जाने से वह गिर गया। इसके बाद दोनों हमलावरों ने उसे धारदार हथियार से बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया। युवती भी गंभीर रूप से घायल हो गई। उसे गंभीर हालत में बरनाला केे सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। बाद में उसकी गंभीर हालत होने के कारण डॉक्टरों ने उसे पटियाला के रजिंदरा अस्पताल में रेफर कर दिया।

घटना को अंजाम देते समय लडकी पर हमला लडकी के पिता भोला सिंह और लड़के पर हमला लड़के के सगे भाई गुरमीत सिंह ने किया। भोला सिंह ने वारदात को अंजाम देने के बाद भागने की बजाए पुलिस के आने पर घटना स्थल पर ही आत्म समर्पण कर दिया। लड़के का भाई गुरमीत सिंह फरार हो गया।

घटना की सूचना मिलते ही डीएसपी पीएस चीमा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। शव केा पोस्टमार्टम के लिए बरनाला के सिविल अस्पताल भेजा गया। पुलिस फरार आरोपी की तलाश कर रही है।