सीपीएमटी की तर्ज पर इंजीनियरिंग का भी सिंगल एंट्रेस टेस्ट अगले साल से

नई दिल्ली (11 फरवरी): मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए सिंगल एंट्रेंस की तर्ज पर अब इंजिनियरिंग और आर्किटेक्चर के लिए भी अंडरग्रैजुएट लेवल पर सिंगल एंट्रेंस टेस्ट होगा। केंद्र ने 2018 से सिंगल एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने शैक्षिक वर्ष 2018-19 से प्रस्ताव के क्रियान्वयन के लिए ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) को एक उचित रेग्युलेशन जारी करने के लिए कहा है।

अमेरिका में कॉलेजों में दाखिले के लिए जिस तरह एसएटी का एक साल में कई बार आयोजन होता है, उसी तरह इसका भी आयोजन होगा। इसका मकसद शैक्षिक स्तर में समानता लाना और दाखिले में डोनेशन के बढ़ते प्रभाव को खत्म करना है।