सिख संत पर हमला, शरबत पिलाने के बहाने 8 घंटे करते रहे इंतजार

नई दिल्ली(18 मई): सिख धर्मगुरु संत बाबा रणजीत सिंह ढंडरियांवाले एक हमले में बाल-बाल बच गए। पंजाब के लुधियाना की साउथ सिटी के सुखमणि एन्क्लेव में रणजीत सिंह ढंडरियांवाले पर 50 से 60 राउंड फायर किए गए। हमलावरों की संख्या करीब 60 थी। ड्राइवर की बहादुरी की वजह से सिख संत बच गए, लेकिन उनके साथ एसयूवी में सवार एक दूसरे संत बाबा भूपिंदर सिंह की मौत हो गई। घटना के बाद लुधियाना में पुलिस ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है।

घटना मंगलवार शाम 8 बजे की है। बता दें कि संत बाबा रणजीत सिंह ढंडरियांवाले की हत्या करने के इरादे से हमलावार दोपहर 12 बजे से ही फल और शरबत पिलाने के बहाने स्टॉल लगाकर उनका इंतजार कर रहे थे। बाबा काफिले के साथ गांव एक दीवान में भाग लेने जा रहे थे। रात 8 बजे जैसे ही उनका काफिला यहां रुका तो कुछ लोग बाबा की एसयूवी के पास आए और पूछा, "बाबा जी किस गाड़ी में बैठे हैं।"

इसके बाद जवाब मिलते ही हमलावरों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। करीब 50-60 राउंड फायर किए गए व कुछ लोगों ने हॉकी, रॉड और लाठियों से भी गाड़ियों पर अटैक कर दिया। इस दौरान गोली लगने से एसयूवी की अगली सीट पर बैठे परमेश्वर द्वार गुरमत प्रचार सेेवा मिशन के प्रचारक संत बाबा भूपिंदर की मौत हो गई।

पुलिस ने मौके से स्टॉल के लिए लगाए गए टैंट, बेस बॉल, शरबत पिलाने का सामान, कई जिंदा कारतूस व उनके खोल अपने कब्जे में लिए हैं। घटना के बाद संत बाबा रणजीत सिंह ने एक वीडियो जारी कर अपने सपोर्टर्स से शांति बनाए रखने की अपील की है।