सिखों के धर्म परिवर्तन मामले पर बोली विदेश मंत्री, कहा-'पाक से करेंगे उच्चस्तरीय बातचीत'

नई दिल्ली (20 दिसंबर): पाकिस्तान में सिख समुदाय परइस्लाम धर्म कुबूल करने के लिए दबाव डाला जा रहा है। इस पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने चिंता जताते हुए कहा कि वह इस मुद्दे को पाकिस्तान के साथ उच्च स्तर पर उठाएंगी। पाकिस्तान के पश्चिमोत्तर प्रांत खैबर पख्तूनख्वा के हंगू जिले में सिख समुदाय ने आरोप लगाया है कि सरकारी अधिकारी उन पर जबरन इस्लाम धर्म स्वीकार करने के लिए दबाव डाल रहे हैं।  

एक पाकिस्तानी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, सिख समुदाय ने हंगू के उपायुक्त शाहिद महमूद के पास एक शिकायत दर्ज कराई है। अपनी शिकायत में सिख समुदाय ने आरोप लगाया है कि सहायक कमिश्नर ताल याकूब खान उन पर इस्लाम धर्म स्वीकार करने के लिए दबाव डाल रहे हैं। 

अगर कोई सामान्य व्यक्ति धर्मांतरण की बात करता है तो आपको उतना बुरा नहीं लगता है मगर ऐसी बातें किसी सरकारी अधिकारी के मुंह से सुनना बहुत ही गंभीर बात है। शिकायत में कहा गया है कि हम दोआब के लोगों को धार्मिक पहचान के आधार पर प्रताड़ित किया जा रहा है। 

संविधान हमें किसी के भी खिलाफ अपनी धार्मिक आस्थाओं की रक्षा करने के लिए सशक्त करता है और हम चाहते हैं कि आप खान को बुलाकर इस मामले की जांच कराएं। रिपोर्ट के सामने आते ही पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से अपील की। उन्होंने विदेश मंत्री से कहा कि वे सिखों के इस्लाम धर्म में जबरन धर्मांतरण के मुद्दे को पाकिस्तानी अधिकारियों से उठाएं। 

हम सिख समुदाय को इस तरह से पीड़ित नहीं बनने दे सकते। यह हमारा कर्तव्य है कि हम सिख समुदाय की रक्षा करें। उनकी अपील पर प्रतिक्रिया देते हुए स्वराज ने कहा कि हम इस मुद्दे को पाकिस्तान सरकार के साथ उच्च स्तर पर उठाएंगे।

We will take this up at the highest level with Government of Pakistan. @IndiainPakistan
Sikh community in Hangu ‘being forced to convert’ https://t.co/HiWuVmBzbj

— Sushma Swaraj (@SushmaSwaraj) December 19, 2017