Blog single photo

मनोज तिवारी को धक्का देने पर अमानतुल्ला की सफाई, फाड़ रहे थे पोस्टर

जिस सिग्नेचर ब्रिज का दिल्ली के लोगों को 14 साल से इंतजार था। आखिर वो लम्हा आ ही गया। दुनिया के सबसे खूबसूरत सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन हो गया, लेकिन ये लम्हा भी सियासत की भेंट चढ़ गया। इस मौके पर पहुंचे बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को आप विधायक अमानतुल्ला खान धक्का

न्यूज 24 ब्यूरो, वरुण सिन्हा, नई दिल्ली (5 नवंबर): जिस सिग्नेचर ब्रिज का दिल्ली के लोगों को 14 साल से इंतजार था। आखिर वो लम्हा आ ही गया। दुनिया के सबसे खूबसूरत सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन हो गया, लेकिन ये लम्हा भी सियासत की भेंट चढ़ गया। इस मौके पर पहुंचे बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को आप विधायक अमानतुल्ला खान धक्का देते हुए दिखाई दिए। हालांकि न्यूज 24 से बात करते हुए अमानतुल्ला खान ने सफाई दी है कि मनोज तिवारी वहां बिना बुलाए आए थे और उनकी मंशा ठीक नहीं थी, वो वहां लगे पोस्टर फाड़ रहे थे।

बीजेपी सांसद पुल पर एक तरफ खड़े हैं और मुख्यमंत्री केजरीवाल का उद्घाटन भाषण हो रहा है। अब तक सब ठीक था, लेकिन चंद सेकंड में ही यहां माहौल गरम हो गया। आप विधायक ने अमानतुल्लाह खान अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंच गए और उन्होंने मनोज तिवारी को धक्का दे दिया। मनोज तिवारी नीचे गिरने ही वाले थे, तभी एक पुलिसवाले ने उऩ्हें संभाल लिया। जिस वक्त ये हंगामा हो रहा था आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता मनोज तिवारी को चारों तरफ से घेरे हुए थे। आप कार्यकर्ता बीजेपी के खिलाफ नारे लगा रहे थे और अमानतुल्लाह उऩके साथ धक्का-मुक्की कर रहे थे।14 साल के इंतजार के बाद दिल्लीवालों को ये खूबसूरत पुल तो मिल गया, लेकिन उद्घाटन के मौके पर हुए हंगामे पूरे माहोल को बदसूरत बना दिया और ये सब सिर्फ सिग्नेचर ब्रिज को लेकर श्रेय लेने की होड़ की वजह से हुआ। विवाद तो उद्घाटन से पहले से ही शुरु हो गया था। कहा गया कि मनोज तिवारी को उद्घाटन समारोह का न्योता नहीं दिया गया था, बावजूद इसके वो अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंच गए। जैसे ही मनोज तिवारी के कदम पुल पर पड़े तो आप कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत धक्का मुक्की करने से किया। काफी देर तक हुए इस हंगामे के बावजूद मनोज तिवारी वहां से नहीं लौटे और उद्घाटन समारोह देखने लगे। इसी बीच अमानतुल्लाह पहुंच गए और उनको धक्का देने लगे।वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी ने मनोज तिवारी और उनके समर्थकों पर हंगामा करने का आरोप लगाया। खुद मुख्यमंत्री केजरीवाल भी इस मौके पर सियासत से बाज नहीं आए। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने पुल के काम में कई बार रुकावटें पैदा की।

Tags :

NEXT STORY
Top