सिद्धू की पत्नी ने कहा- 'अकालियों से मिलकर चुनाव लड़ने का सवाल ही नहीं'

नई दिल्ली (10 फरवरी) :  क्या बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल पंजाब विधानसभा चुनाव इस बार भी मिल कर लड़ेंगे? पंजाब की सियासत के साथ दिल्ली में भी सत्ता के गलियारों में ये बड़ा सवाल बना हुआ है। लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी और अमृतसर से बीजेपी विधायक नवजोत कौर सिद्धू किसी भी सूरत में शिरोमणि अकाली दल के साथ मिल कर चुनाव लड़ने के पक्ष में नहीं है। हालांकि सिद्धू खुद मौन हैं। लेकिन उनकी पत्नी के बयान को उनकी रज़ामंदी से जोड़ कर देखा जा रहा है।   

नवजोत कौर सिद्धू ने अमृतसर में कहा, "मैं अपनी बात पर कायम हूं। जैसा कि मैंने पहले कहा था कि सिद्धू अकालियों के साथ मिलकर चुनाव नहीं लडे़ंगे। आज भी हम अपनी बात पर अटल है। उन्होंने कहा कि यदि पार्टी अकाली दल के साथ मिल कर चुनाव लड़ती है तो वह पार्टी की टिकट पर चुनाव नहीं लड़ेंगी। इतना ही नहीं सिद्धू परिवार चुनाव प्रचार की कमान भी नहीं संभालेगा।"

नवजोत कौर सिद्धू ने कहा कि उनका चुनाव लड़ना तो तय है। अब वो आज़ाद उम्मीदवार के तौर पर होगा या किसी पार्टी की टिकट पर ये अभी तय नहीं है।

बता दें कि पंजाब के उपमुख्यमंत्री और एसएडी नेता सुखबीर सिंह बादल ने मंगलवार को दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ मुलाकात की थी। इस बैठक के बाद सुखबीर बादल ने कहा था कि बीजेपी और एसएडी साथ हैं और साथ रहेंगे।