मानवता शर्मसार, एंबुलेंस नहीं मिली तो बांस के सहारे ले जाना पड़ा शव


सीधी (22 अप्रैल): मध्य प्रदेश के सीधी जिले से इंसानियत को शर्मसार करने वाली तस्वीरें सामने आई है। यहां में स्वास्थ्य विभाग के लचर रवैये की वजह से एक परिवार को बांस से बांध कर शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाना पड़ा।बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश के सीधी जिले के कोतवाली क्षेत्र में एक शख्स की मौत हो गई थी। इस शख्स के परिवार वालों ने जब डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल ले जाना चाहा तो वहां नगर पालिका की ओर से एंबुलेंस ही नहीं मिला। नगर पालिका का कहना था कि एंबुलेंस को चलाने के लिए कोई ड्राइवर ही मौजूद नहीं है लिहाजा एंबुलेंस डेड बॉडी को लेकर अस्पताल नहीं जा सकती है।

खबरों के मुताबिक सीधी जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र में महेश कौल नाम के व्यक्ति की अचानक मौत हो गई थी। पोस्टमार्टम कराने के लिए महेश कौल के परिवार ने डेड बॉडी को जिला अस्पताल ले जाना चाहा लेकिन नगर पालिका ने ड्राइवर ना होने का हवाला देकर इससे इनकार कर दिया। इसके बाद मृतक के परिजनों ने बांस से डेड बॉडी को बांधा और बीच बाजार से लेकर पोस्टमार्टम हाउस तक पहुंचे। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में नगर पालिका के रवैये को लेकर काफी गुस्सा है। बता दें कि नगर पालिका का काम प्रसव, मौत, गंभीर बीमारी के दौरान पोस्टमार्टम मुहैया कराना है, लेकिन शायद ही लोगों को ये सरकारी सुविधाएं मिल पाती है।