सिद्धिविनायक के खजाने में इजाफा, नोटबंदी के बाद दोगुना हुआ चढ़ावा

विनोद जगदाले, मुंबई (17 नवंबर): मुंबई के प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर में 8 नवंबर के नोटबंदी के बाद पहली बार दानपेटी में चढ़ाए गए पैसों की काउंटिंग बुधवार सुबह 10.30 बजे से की गई। यह गिनती देर शाम तक चली। मंदिर परिसर में हर जगह लगी इन दान पेटियों में भक्तों द्वारा 500 /1000 रुपए की नोट 24 नवंबर तक चढ़ाई जा सकती है। दानपेटी खुलने के बाद इसका असर बाप्पा के खजाने में दिखा।

दानपेटी में 10, 20, 50 और 100 की नोटों के अलावा 500 और 1000 रुपए के नोटों की गड्ड‍ियां बड़ी तादाद में मिली। आमतौर पर एक हफ्ते में सिद्धिविनायक मंदिर के खजाने में 35 से 40 लाख रुपए की धनराशि चढावे के रूप में जमा होती थी, लेकिन नोटबंदी के बाद यह राशि बढ़कर 60 लाख तक पहुंच गई।

दानेपेटी में चढे नोटों की काउंटिग में 2000 के 90 नोट मिले, 1000 रुपए के 1060 नोट मिले और 500 के 3340 नोट मिले।  मंदिर प्रशासन की मानें तो 30 दिसंबर के नजदीक आते-आते मिंदिर खजाने की राशि में बढ़ोत्तरी देखी जा सकती है, जिसमें अधिकतर 500 और 1000 रुपए के नोट ज्यादा हो सकते है।