शिवसेना का मोदी पर निशाना, 'योग से कैसे भूलें महंगाई का दर्द?'

मुंबई (23 जून): केंद्र सरकार में बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। शिवसेना ने कहा कि योग को विश्व पटल पर स्थापित करना सराहनीय प्रयास है, लेकिन क्या इस प्राचीन भारतीय पद्धति को अपनाने से लोगों को मुद्रास्फीति के दर्द से राहत मिलेगी।

पार्टी ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में शिवसेना ने लिखा है कि 130 देशों को ‘नरेन्द्रासन’ करवाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी प्रशंसा के पात्र हैं। दुनिया झुकती है, झुकानेवाला चाहिए। इस युक्ति की तर्ज पर प्रधानमंत्री मोदी ने 130 देशों को योग के बहाने जमीन पर लिटा दिया। गैर-भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री मोदी का विरोध कर सकते हैं लेकिन योग एक ऐसा विज्ञान है, जिसका विरोध नहीं किया जाना चाहिए।

मुखपत्र में कहा गया है कि योग के जरिये बहुत कुछ हासिल किया जा सकता है लेकिन दैनिक जीवन की महंगाई और भ्रष्टाचार की वेदना को इसके माध्यम से भूला जा सकता है क्या? इस पर रोशनी डाली गयी होती तो उचित होता। पिछले वर्ष संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था।