'नेता जी से बात के बाद हुआ कौमी एकता पार्टी का विलय'

लखनऊ (22 जून): यूपी के बाहुबली मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता के समाजवादी पार्टी में विलय को लेकर सियासी कोहराम मच गया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता और मंत्री शिवपाल यादव ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि मुख्तार अंसारी को पार्टी में ज्वाइन नहीं कराया गया है। सिर्फ कौमी एकता पार्टी का समाजवादी पार्टी में विलय हुआ है। 

उन्होंने कहा कि कौमी एकता पार्टी अफजाल की है...मुख्तार की नहीं। शिवपाल ने कहा कि पार्टी के मुखिया नेता जी 'मुलायम सिंह यादव' से बात करने के बाद ही कोई फैसला लिया गया है और उनका फैसला सभी को मंजर होगा। उन्होंने साफ करते हुए कहा कि विपक्ष बेवजह इसे मुद्दा बना रहा है।

बता दें कि समाजवादी पार्टी ने 25 जून को संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई है। सूत्रों का दावा है कि 27 जून को होने वाले मंत्रीमंडल के विस्तार में बर्खास्त बलराम यादव के बेटे संग्राम यादव को शामिल किया जा सकता है।