शिवपाल का पहला एक्शन-रामगोपाल के भतीजे को पार्टी से निकाला

नई दिल्ली (18 सितंबर): समाजवादी पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई का अध्यक्ष बनते ही शिवपाल सिंह यादव ने पहली कार्रवाई रामगोपाल के रिश्तेदार पर की। पदभार ग्रहण करने के कुछ घंटों बाद ही शिवपाल ने एमएलसी अरविंद प्रताप यादव को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। 

- एमएलसी अरविंद यादव मुलायम के चचेरे भाई रामगोपाल के सगे भांजे हैं। अरविंद मैनपुरी से विधान परिषद सदस्य हैं। उन्हें इसी साल एमएलसी बनाया गया था।

- एमएलसी अरविंद प्रताप यादव को पार्टी से निकाले जाने की वजह पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होना है। 

- आरोप है कि वह अवैध रूप से जमीनों पर कब्जा करने की गतिविधियों में शामिल थे। इसके अलावा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के विरोध में असम्मानजनक और अमर्यादित टिप्पणी को पार्टी ने निष्कासन का आधार बनाया है। 

- इसके अलावा शिवपाल ने इटावा के पूर्व प्रधान अखिलेश कुमार यादव को भी निष्कासित कर दिया। पार्टी विरोधी कार्यो में लिप्त रहने और अनुशासनहीन आचरण के कारण समाजवादी पार्टी से निष्कासित किया गया।

- फिरोजाबाद से सांसद और रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अरविंद पर गलत कार्रवाई की गई है। 

- उन्होंने कहा कि जिन्होंने मेरे पिता पर टिप्पणी की है वे याद रखें कि उनका भी सम्मान है और अरविंद सैफई परिवार के सदस्य हैं। वह इस मामले को मुलायम सिंह के सामने उठाना चाहते हैं।