शिवसेना ने किया मोदी पर अटैक, पूछा- दो साल बाद कितना काला धन आया?

नई दिल्ली (28 जून): शिवसेना ने एक बार फिर मोदी सरकार पर हमला बोला है। सामना में कालेधन पर मोदी सरकार और मुंबई के भाजपा कार्यकर्ताओं पर जमकर तंज कसा गया है। समाना के जरिए मोदी से पूछा गया है कि राष्ट्र निर्माण के कार्य के लिए चुनाव से पहले काले धन के वापसी की महत्वपूर्ण घोषणा का क्या हुआ ? हाल ही में 'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने 'सितंबर तक काले धन को घोषित करने या फिर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी थी।

सामना ने लिखा है कि मोदी ने हर आदमी को 15 लाख देने का वादा किया था। जिससे उनपर वोटों की बरसात हुई थी। लेकिन, दो साल बाद विदेशों से कितना काला धन आया? काला धन देश का बड़ा चुनावी मुद्दा रहा है। चुनावी भाषण से लेकर मन की बात तक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काले धन पर अपनी चिंता जता चुके हैं।

बता दें कि विदेशों में जमा कालेधन पर कार्रवाई करने में मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी मिली है। एक आंकड़े के मुताबिक करीब 13 हजार करोड़ के काले धन का खुलासा अब तक हो चुका है। ये काला धन 2011 और 2013 में जेनेवा के एचएसबीसी बैंक से मिली जानकारी के आधार पर हुआ है।

साल 2011 में फ्रांस की सरकार ने जो जानकारी काले धन पर दी थी उसमें 400 अकाउंट भारतीयों के थे। सरकार की जांच में इन मामलों में 8 हजार से ज्यादा काले धन का पता चला है। इसके अलावा साल 2013 में मिली अकाउंट की जानकारी में 5000 करोड़ के काले धन का पता चला है।

सभी काले धन खाता धारकों पर कानूनी कार्रवाई का सिलसिला चल रहा है। गौरतलब है कि पीएम मोदी ने काला धन जमा करने वालों को तीन महीने का अल्टीमेटम दिया है। पीएम मोदी ने मन की बात में कहा कि ऐसे लोगों के पास 30 सितबंर तक का वक्त है।