शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने की मांग, चुनाव बाद ही पेश हो बजट

नई दिल्ली ( 4 जनवरी ): पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव का ऐलान होने पर बसपा सुप्रीमो मायावती, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और एनसीपी नेता शरद पवार ने बजट फरवरी में पेश करने का विरोध किया है। बसपा प्रमुख मायावती ने केन्द्रीय निर्वाचन आयोग द्वारा उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव का कार्यक्रम घोषित किये जाने का स्वागत करते हुए अनुरोध किया है कि वह केन्द्र की भाजपा नीत सरकार को चुनाव के बीच एक फरवरी को आम बजट पेश करने से रोके।

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भी मांग की कि पांचों राज्यों में विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद ही केंद्रीय बजट पेश किया जाए। ठाकरे ने कहा कि हर बार मार्च में बजट आता है तो इस बार फरवरी में क्यों। जब तक चुनाव नहीं होते तब तक बजट पेश नहीं होना चाहिए। अगर ऐसा होता है तो ये चुनाव के नियमों का उल्लंघन है।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि सांसद राष्ट्रपति से मिलने जाएं और मांग करें पांच राज्यों के नतीजों के बाद ही केंद्र सरकार आम बजट पेश करे।