ब्लासफेमी के कथित आरोपी शिया मुसलमान को पाकिस्तान में सजा-ए-मौत

नई दिल्ली (12 जून): पाकिस्तान में एक अल्पसंख्यक शिया शख्स को फेसबुक पर कथित ईशनिंदा वाली पोस्ट डालने के जुर्म में मौत की सुनाई गई है। सोशल मीडिया पर इस तरह के पोस्ट के चलते मौत की सजा दिए जाने का यह पहला मामला है।


पाकिस्तान के आंतक निरोधी पुलिस के मुताबिक, लाहौर से करीब 200 किलोमीटर दूर ओकरा के रहने 30 साल के तैमूर रजा को पिछले साल गिफ्तार किया गया था। रजा के सहकर्मियों ने शिकायत की थी कि उसने सुन्नी मुस्लिमों के लिए आदरणीय पैगंबर मोहम्मद की पत्नी के खिलाफ फेसबुक पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। इस मामले में पंजाब प्रांत के बहवालपुर जिले में आतंक निरोधी अदालत के जज शब्बीर अहमद ने उसे मौत की सजा सुनाई।