वसीम रिजवी ने फिर जताई हत्या की आशंका, सरकार से लगाई सुरक्षा की गुहार

लखनऊ (30 अप्रैल): अयोध्या में राम मंदिर का समर्थन करने वाले शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने एकबार फिर हत्या की आशंका जताई है। इन्होंने इस सिलसिले में एकबार फिर सरकार को चिट्ठी लिखी है। उन्होंने अपने खत में कहा है कि अभी तक सरकार ने उन्हें पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध नहीं कराई है। इससे पहले भी वसीम रिजवी अपनी सुरक्षा को लेकर केंद्र सरकार को लिख चुके हैं। रिजवी ने लिखा कि उन्होने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के अलावा मदरसों पर निगरानी और उनमें उच्च शिक्षा दिये जाने पर भी आवाका उठाई है। कुछ मदरसे आज भी आतंकवादियों का संरक्षण का केन्द्र बने हुए हैं। इन पर कार्यवाई किया जाना बहुत जरूरी है, नहीं तो हिन्दुस्तान में हिन्दू समाज, शिया समाज एवं सुन्नी समाज के धर्म निरपेक्ष वर्ग खतरे में हैं और जेहादी संगठनों के निशाने पर हैं।  

आपको बता दें कि पिछले दिनों शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के प्रमुख वसीम रिजवी की हत्या की साजिश रचने के आरोप में पुलिस ने कुल लोगों को गिरफ्तार किया था। दरअसल, पिछले साल जनवरी के महीने में शिया वक्फ बोर्ड के चैयरमेन वसीम रिजवी को एक धमकी भरा कॉल आया था। वसीम रिजवी का कहना था कि फोन करने वाले ने दाउद का नाम लिया और मुझसे मदरसों की शिक्षा और दूसरे मुद्दों पर खड़ा रहने को कहा था। धमकी भरे फोन आने के बाद वसीम रिजवी ने पीएम मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सभी मदरसों को बंद करने की बात कहीं। साथ ही उनका नाम अयोध्या विवाद में राम मंदिर का समर्थन करने पर भी आया था।