ख्वाजा के दर पर पहुंची बांग्लादेशी पीएम शेख हसीना, अमन के लिए मांगी दुआ

नई दिल्ली (9 अप्रैल): अपने भारत दौरे के तीसरे दिन बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने रविवार को अजमेर पहुंची। यहां उन्होंने ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती पर चादर चढ़ाई और देश में अमन-चैन की दुआ मांगी।



शेख हसीना सुबह मंत्रियों और अधिकारियों की टीम के साथ जयपुर एयरपोर्ट पहुंचीं। यहां से वो हेलीकॉप्टर के जरिये अजमेर के घूघरा एयरपोर्ट गईं। इसके बाद वो सड़क के रास्ते से दरगाह पहुंचीं। दरगाह के दरवाजे पर उनका राजस्थानी अंदाज में रंगारंग स्वागत किया गया. इस मौके पर कच्छी घोड़ी और कालेबेलिया नर्तकों ने अपना हुनर दिखाया. स्वागत से खुश हसीना ने इन कलाकारों के साथ तस्वीरें खिंचवाईं। यहां शेख हसीन तकरीबन आधे घंटे रूकीं।


भारत की मेहमान हसीना के स्वागत में दरगाह के पूरे इलाके में रेड कार्पेट बिछाया गया था। दरगाह के खादिम कमीलुद्दीन अपनी सदारत में उन्हें भीतर लेकर गए। बाद में दरगाह कमेटी की तरफ से सभी मेहमानों की दस्तारबंदी की गई। बांग्लादेशी पीएम ने दरगाह की विजिट बुक में बांग्ला भाषा में ये संदेश लिखा- 'ये अल्लाह के वली का दरबार है। यहां आने से रूहानी फैज मिलता है। दिल को सुकून मिलता है। यहां जो भी आता है, मुरादें पाता है। ख्वाजा के दरबार में आने से अल्लाहताला दुआएं कुबूल करता है।


बताया जा रहा है कि शेख हसीन काफी वक्त से ख्वाजा के दर पर आना चाहती थीं। शेख हसीना अपने परिवार के साथ पहले भी यहां आ चुकी हैं।