कश्मीर पर झूठ बोलने वाली शेहला रशीद की बढ़ी मुश्किलें, सुप्रीम कोर्ट में शिकायत, गिरफ्तारी की मांग

shehla-rashid

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 अगस्त): सेना के खिलाफ आरोप लगाकर जेएनयू की पूर्व छात्र नेता शेहला रशीद मुश्किल में फंस गई हैं। दिल्ली के एक वकील ने शेहला रशीद के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में कहा गया है कि शेहला ने अपने ट्वीट के जरिए सेना पर बेबुनियाद आरोप लगाए हैं और उनके खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज होना चाहिए।  वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने सर्वोच्च न्यायाल को दी गई गई अपनी शिकायत में झूठ फैलाने और गुमराह करने का आरोप लगाते हुए शहला की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। शहला ने कश्मीर में हालात बेहद खराब होने का दावा करते हुए रविवार को कई ट्वीट किए थे।

वहीं सेना ने शहला के आरोपों को खारिज करते हुए इसे तथ्यहीन बताया है। भारतीय सेना ने ट्वीट किया, 'शेहला राशिद द्वारा लगाए गए आरोप बेबुनियाद और खारिज हैं। ऐसी असत्यापित और फर्जी खबरें असामाजिक तत्वों और संगठनों द्वारा अनसुनी आबादी को भड़काने के लिए फैलाई जाती हैं।'

रविवार को शेहला रशीद ने कश्मीर के मौजूदा हालात को लेकर 10 ट्वीट किए। इन ट्वीट्स में दावा किया कि वहां हालात बेहद खराब है। कश्मीर के हालात पर किए गए ट्वीट पर भारतीय सेना ने जवाब दिया है। शेहला रशीद ने रविवार को कश्मीर के हालात को लेकर 10 ट्वीट किए थे जिसमें उन्होंने दावा किया कि कश्मीर में हालात बेहद खराब है। अब शेहला रशीद के इन दावों की हवा भारतीय सेना ने निकाल दी है। भारतीय सेना ने ट्वीट कर उनके दावों को बेबुनियाद बताया है।

shehla-rashid

जम्मू में बीते कुछ दिनों से धारा 144 में ढील दी गई थी, लेकिन कश्मीर में धीरे-धीरे हालात सामान्य हो रहे हैं। श्रीनगर के डिप्टी कमिश्नर शाहिद चौधरी के मुताबिक, सोमवार से घाटी में 190 स्कूल खुलें है। ऐसे में सबसे पहली और बड़ी चुनौती बच्चों की सुरक्षा की है। करीब 14 दिन बाद घाटी में स्कूल-कॉलेज खुलने जा रहे हैं, ऐसे में एक बार फिर सुरक्षाबलों के लिए शांत माहौल बनाने की चुनौती है। अनुच्छेद 370 कमजोर होने और केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद से ही कश्मीर में धारा 144 लागू थी।