अमेरिका: बेटी को बाथरूम में बंद रखने वाली भारतीय महिला को 25 साल जेल

नई दिल्ली (30 जुलाई): अमेरिका में 35 साल की भारतीय मूल की एक महिला को 25 साल जेल की सजा सुनाई गई। इस महिला को 12 साल की अपनी सौतेली बेटी को 2012 से 2014 के बीच शारीरिक और मानसिक तौर पर टॉर्चर करने का दोषी पाया गया है। 

- पुलिस इस मामले में उसके भारतीय पति को भी आरोपी बनाएगी।  - दोषी महिला का नाम शीतल रनौट है। वह अपने पति राजेश और सौतेली बेटी के साथ क्वींस में रहती थी। - करीब तीन हफ्ते की सुनवाई के बाद शीतल को दोषी पाया गया। - पुलिस अब उसके पति पर भी केस फाइल करने की बात कह रही है। - शीतल अपनी सौतेली बेटी माया से बेहद नफरत करती थी। वो उसे अक्सर मारा-पीटा करती थी। - एक बार शीतल ने माया को मेटल की झाड़ू से बुरी तरह से पीटा। इससे माया की बांईं कलाई और घुटने पर गहरी चोट लगी। - मेडिकल अफसर मौके पर पहुंचे तो खून से लथपथ माया दर्द से कराह रही थी। माया को फौरन हॉस्पिटल में भर्ती किया गया। - बाद में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए शीतल और राजेश को माया की कस्टडी नहीं दी। शीतल के खिलाफ केस दर्ज किया गया। - पुलिस ने माया के स्कूल में भी पूछताछ की। उसके टीचर ने बताया कि माया पिटाई का जिक्र करती थी।