कल्पना और सुनीता के बाद स्पेस में शावना तीसरी भारतीय महिला

नई दिल्ली (10 फरवरी): कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद अब भारतीय मूल की तीसरी महिला डॉक्टर शावना पांड्या स्पेस के लिए उड़ान भरेंगी। शावना न्यूरोसर्जन हैं।  इन दिनों कनाडा की अल्बर्टा यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में जनरल फिजीशियन हैं। इसके साथ ही वो अंतरिक्ष मिशन के लिए एस्ट्रोनॉट के तौर पर तैयारी भी कर रही हैं। सिटीजन साइंस एस्ट्रोनॉट (सीएसए) प्रोग्राम के तहत स्पेस में जाने के लिए 3200 लोगों में से दो लोग सेलेक्ट हुए हैं। इनमें से एक शावना हैं।

- 32 साल की शावना मूल रूप से मुंबई की हैं। वह 2018 में अतंरिक्ष में जाने वाले मिशन का हिस्सा होंगी। इस मिशन में कुल आठ लोग अतंरिक्ष में जाएंगे।

- शावना ओपरा सिंगर, लेखक, ताइक्वोंडो चैंपियन तो हैं ही, साथ ही उन्होंने नेवी सील की ट्रेनिंग भी ले रखी है।

- हाल ही में मीडिया से बातचीत में शावना ने कहा, ‘बचपन से मैं सुपरहीरो और एस्ट्रोनॉट बनना चाहती थीं। लेकिन मुझे मेडिसिन से प्यार है।’

- वो कहती हैं कि हमारे स्टूडेंट्स में काफी प्रतिभा है, लेकिन इसे कैसे बाहर लेकर आना है, वे नहीं जानते हैं। हमें साइंस के हर डेव्लपमेंट से जुड़ना चाहिए। 

- शावना के माता-पिता मुंबई में रहते हैं। फिलहाल वो मुंबई में हैं। उन्होंने मेडिकल स्टूडेंट्स, डॉक्टर्स और स्कूली बच्चों के साथ मोटिवेशन सेशन में बातचीत भी की।