15 साल बाद थिएटर में शत्रुघ्न सिन्हा, अपने ही पार्टी के नेताओं का उड़ाया मजाक

नई दिल्ली(12 जून): बीजेपी नेता और एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा 15 साल बाद एक बार थियटर में नजर आए। दिल्ली के सिरी फोर्ट ऑडिटोरियम में हुए प्ले ‘पति, पत्नी और मैं’ में सीएम अरविंद केजरीवाल के कहने पर शत्रुघ्न परफॉर्म करने पहुंचे।

प्ले के दौरान उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, एचआरडी मिनिस्टर स्मृति ईरानी, उमा भारती और सेंसर बोर्ड के चीफ पहलाज निहलानी का मजाक उड़ाया। उन्होंने अमिताभ बच्चन पर भी तंज कसा। एक सीन पर को-आर्टिस्ट से कहा कि सुषमा स्वराज के जैसे उदास क्यों खड़ी हो? सरकार का दावा था कि प्ले देखने वाले को 200 बार हंसी आएगी।

दिल्ली सरकार ने इस प्ले के लिए आर्थिक मदद की थी। सरकार की तरफ से दावा किया गया था कि प्ले देखने वाले को 2 घंटे में 200 बार हंसी आएगी।  प्ले में शत्रु के साथ थिएटर और सिने आर्टिस्ट राकेश बेदी और महिला को- आर्टिस्ट भी नजर आए।

शत्रुघ्न ने इससे पहले इसी नाम ‘पति, पत्नी और मैं’ के नाटक में 2001 में एक्टिंग की थी। शत्रु ने अपने किरदार के बारे में बताते हुए सिन्हा ने कहा कि ‘मैं इलाहबाद से हूं’ फिर थोड़ा रुककर बोले- ‘क्यों सिर्फ अमिताभ बच्चन ही इलाहबाद से हैं क्या?’ प्ले के दौरान अपनी को-आर्टिस्ट को एड्रेस करते हुए सिन्हा ने बोले ‘सुषमा स्वराज के जैसे उदास क्यों खड़ी हो?’ स्मृति ईरानी का नाम लेते हुए एक सीन पर उन्होंने कहा, ‘मैंने स्मृति ईरानी के बाद सीरियल्स देखना बंद कर दिए हैं।'

एक डायलॉग पर शत्रु ने उमा भारती का नाम लिया। कहा ‘अरे उमा भारती, ऋतंभराजी, देखिए, आपके भाषण का रिकॉर्ड टूट रहा है।’ वहीं एक डायलॉग पर सिन्हा ने कहा, ‘फारुख अब्दुल्ला से सीखो, बाइक राइड में बाइक की नहीं, लड़की की इंपोर्टेंस होती है।’

सिन्हा ने आप नेताओं और दिल्ली पुलिस पर भी जोक्स सुनाए। अपने जोक में दिल्ली पुलिस को शामिल करते हुए उन्होंने कहा ‘हम दिल्ली पुलिस हैं, हम समझते नहीं, समझाते हैं। चाहे तो 'आप' वालों से पूछ लो।’ केजरीवाल और दिल्ली के एलजी नजीब जंग की जंग का मजाक उड़ाते हुए शत्रु ने बोले ‘बच्चा हो, बाप हो या आप हो, जंग की नो एंट्री।’ ऑड-ईवन स्कीम का मजाक उड़ाते हुए उन्होंने कहा- ‘आपने कहा था हमारे दो बच्चे होने के बाद हम दो गाड़ियां लेंगे- एक ऑड और एक ईवन।’प्ले में मैरिड लाइफ पर जोक करते हुए उन्होंने कहा ‘एक आदमी शादी के बाद खुश नहीं हो सकता। या तो वह खुश होगा या फिर शादीशुदा।’