रवि शास्त्री बने रहना चाहते हैं टीम इण्डिया का कोच तो उन्हें भी करना होगा फिर से आवेदन

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 जुलाई): टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री सहित सहयोगी स्टाफ को अपनी नियुक्ति के लिए फिर से आवेदन करने होंगे। रवि शास्त्री का अनुबंध अगले महीने के वेस्ट इंडीज दौरे के बाद समाप्त हो जाएगा। सहयोगी स्टाफ में शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरुण, बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ और क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर हैं। वर्ल्ड कप में टीम के प्रदर्शन पर बीसीसीआई में नियुक्त प्रशासनिक समिति कप्तान और कोच से टीम के प्रदर्शन पर चर्चा करेगी, जहां कोच और कप्तान से टीम के प्रदर्शन को लेकर सवाल-जवाब भी होंगे।

वेस्ट इंडीज के 3 अगस्त से 3 सितंबर तक होने वाले दौरे के कारण इनका कार्यकाल वर्ल्ड कप के बाद 45 दिन तक बढ़ाया गया है। ये सभी नए सिरे से आवेदन कर सकते हैं लेकिन टीम को नया ट्रेनर और फिजियो मिलना तय है क्योंकि शंकर बासु और पैट्रिक फरहार्ट भारत के वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में हार के साथ ही सहयोगी स्टाफ से हट गए थे।

वेस्ट इंडीज दौरे के बाद भारत की घरेलू सीरीज 15 सितंबर से साउथ अफ्रीका के खिलाफ होगी। शास्त्री को अनिल कुंबले का कार्यकाल विवादास्पद परिस्थितियों में बीच में समाप्त हो जाने के बाद 2017 में मुख्य कोच नियुक्त किया गया था। यह 57 वर्षीय पूर्व कप्तान अगस्त 2014 से जून 2016 तक भारतीय टीम के निदेशक भी रहे थे।

भारत ने हालांकि उनके कोच रहते हुए कोई बड़ा आईसीसी टूर्नमेंट नहीं जीता हालांकि टीम ने इस साल के शुरू में ऑस्ट्रेलिया में पहली टेस्ट सीरीज जीतकर इतिहास रचा था। बीसीसीआई अधिकारी ने कहा, 'हमारी वेबसाइट पर एक या दो दिन में इन पदों के लिए आवेदन दिया जाएगा। सहयोगी स्टाफ के अलावा टीम मैनेजर पद के लिए भी नए सिरे से आवेदन मंगाए जाएंगे।'

तमिलनाडु के पूर्व कप्तान सुनील सुब्रहमण्यम को 2017 में एक साल के अनुबंध के लिए टीम मैनेजर नियुक्त किया गया था लेकिन बाद में उनका कार्यकाल बढ़ा दिया गया था।  Images Courtesy: Google