'मेरे पास मां है...', ये हैं शशि कपूर की फिल्मों के कुछ सुपरहिट डायलॉग्स

नई दिल्ली ( 4 दिसंबर ): दादा साहब फाल्के पुरस्कार विजेता और मशहूर अभिनेता शशि कपूर का लंबी बीमारी के बाद सोमवार को मुंबई में 79 साल की उम्र में निधन हो गया। शशि कपूर कोकिलाबेन में अस्पताल में भर्ती थे। 

शशि कपूर राज कपूर और शम्मी कपूर के सबसे छोटे भाई थे। वह काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। शशि कपूर का असली नाम बलबीर राज कपूर था।

शशि कपूर बॉलीवुड के उन एक्टर्स में शुमार किए जाते हैं, जिन्होंने अपने रोमांटिक अभिनय के जरिए फिल्म प्रेमियों का मनोरंजन किया। शशि सिर्फ अपनी मनमोहक मुस्कान या एक्टिंग के लिए ही नहीं जाने जाते थे बल्कि उनकी डायलॉग डिलिवरी भी इतनी दमदार होती थी कि दर्शक मानो बंध से जाते थे।

फिल्म 'दीवार' में शशि कपूर के द्वारा बोला गया डायलॉग 'मेरे पास मां है...' आज भी लोगों के दिलों में बसा हुआ है। सिर्फ दीवार ही नहीं बल्कि और भी कई फिल्मों जैसे 'सिलसिला', 'फकीरा', 'नमक हलाल', 'शर्मीली' व 'रोटी कपड़ा और मकान' में शशि कपूर के ऐसे कई डायलॉग हैं, जो आज भी लोगों मुंहजबानी याद हैं।   -सुपरहिट डायलॉग्स  - 'मेरे पास मां है...' -यह प्रेम रोग है शुरू में दुख देता है, बाद में बहुत दुख देता है।  -इस दुनिया में आदमी इंसान बन जाए तो बड़ी बात है।  -हम गायब होने वालों में से नहीं हैं, जहां-जहां से गुजरते हैं जलवे दिखाते हैं, दोस्त तो क्या दुश्मन भी याद रखते हैं।  -ये मत सोचो देश तुम्हे क्या देता है, सोचो कि तुम देश को क्या दे सकते हो।  -जुल्म और पाप का खेल तो हमेशा जालिमों और पापियों की जिंदगी के साथ ही खत्म होता है।  -ये दुनिया एक थर्ड क्लास का डिब्बा बन गई है, जगह बहुत कम है मुसाफिर ज्यादा।