शरद यादव के मंच से राहुल गांधी का पीएम मोदी पर बड़ा हमला

नई दिल्ली(17 अगस्त): पूर्व जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से नाराज होने के बाद गुरुवार को विपक्षी नेताओं का सम्मेलन बुलाया। इस सम्मेलन को साझी विरासत बचाओ का नाम दिया गया। 

- सम्मेलन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, सीताराम येचुरी, गुलाम नबी आजाद, फारुक अब्दुल्ला समेत विपक्ष के कई नेता शामिल हुए।

- कार्यक्रम में राहुल गांधी ने कहा कि उनके सबसे बड़े नेता ब्रिटिश सरकार के सामने लड़ाई नहीं कर पाए थे। उनके एक नेता ने ब्रिटिश सरकार को चिट्ठी लिखकर जेल से फ्री करने की बात कही थी।

- राहुल गांधी ने कहा कि सरकार आने से पहले गया था कि 2 करोड़ लोगों को रोजगार देंगे, 15 लाख देने का वादा किया था लेकिन उन्होंने एक भी वादा पूरा नहीं किया।

- राहुल ने संघ पर वार करते हुए कहा कि इन लोगों ने तिरंगे को सलाम करना भी सत्ता में आने के बाद सीखा है। राहुल ने कहा कि संघ के लोग जानते हैं कि ये चुनाव नहीं जीत सकते हैं इसलिए हर जगह अपने लोगों को डाल रहे हैं।

- उन्होंने कहा कि हम लोगों को इनके खिलाफ एक साथ होकर लड़ना है। पिछले 2 साल में 1 लाख 30 करोड़ रुपए 10-15 करोड़पतियों का माफ कर दिया है। तमिलनाडु के किसान जंतर-मंतर पर नंगे होकर प्रदर्शन कर रहे हैं, किसान पूरे देश में मर रहे हैं।

- राहुल ने कहा कि मोदी जी ने पूरे देश को 15-20 कारोबियों के हाथ में दिया हुआ है। ये लोग ही पूरा देश चला रहे हैं, ये लोग मोदी जी की मार्केटिंग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमेशा सच की ही जीत होती है, चाहे फिर मोदी हो या कोई और हो।

-  राहुल ने कहा कि मोदी जी का मेक इन इंडिया फेल हो गया है, संसद में मंत्री ने बताया कि सिर्फ 1 लाख लोगों को रोजगार दिलाया। लेकिन वादा तो 2 करोड़ किया।