शरद यादव ने बोला मोदी सरकार पर हमला


पटना (30 जुलाई):
नीतीश कुमार के बीजेपी का हाथ थामने के बाद शरद यादव नाराज चल रहे हैं। हालांकि इस बारे में शरद यादव ने अभी तक चुप्पी साधी हुए हैं, लेकिन उन्होंने मोदी सरकार पर हमला बोला। शरद यादव ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए और कहा, 'विदेशों से कालाधन वापस नहीं आया, जोकि सत्ताधारी पार्टी का एक मुख्य नारा था और ना ही पनामा पेपर्स में नामित लोगों में से किसी को पकड़ा गया।'

फसल बीमा योजना पर भी सवाल उठाते हुए शरद यादव ने ट्वीट किया, 'दूसरी योजनाओं की तरह फसल बीमा योजना भी सरकार की असफलता है, जिसके द्वारा केवल प्राइवेट बीमा कंपनियों को फायदा पहुंचाया गया। सरकार कई सेवाओं के नाम पर जनता से काफी सेस अर्जित करती है, लेकिन फिर भी देश में किसी भी क्षेत्र में सुधार नहीं दिख रहा है।'

खबरों के अनुसार, शरद यादव महागठबंधन तोड़े जाने के पक्ष में नहीं थे। नीतीश ने महागठबंधन तोड़ बीजेपी के साथ जाने का फैसला किया। नीतीश के इस कदम से शरद यादव नाराज बताए जाते हैं। नीतीश और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उन्हें मनाने की कोशिश भी की, लेकिन वह अब भी 'नई दोस्ती' से असहज हैं।