शनि पूजा विवाद में कूदे रामदेव, बोले- शनि भगवान नहीं हो सकते...

नई दिल्ली (1 फरवरी): शनि पूजा विवाद में धर्मगुरु शंकराचार्य के बाद अब योगगुरु बाबा रामदेव भी कूद पड़े हैं। द्वारका पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती का समर्थन करते हुए बाबा रामदेव ने कहा है कि शनि भगवान नहीं हो सकते हैं। हरियाणा के जींद में बाबा रामदेव ने कहा है कि शनि से तो हम बचते हैं वो भगवान कैसे हो सकते हैं।

आस्था के समंदर में डुबकी लगाने वाले श्रद्दालुओं की आस्था पर पहले द्वारका पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरुपानंद और बाबा रामदेव ने सवाल खड़े कर दिए हैं। शनि शिंगमापुर मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर चल रहे विवाद के बीच शंकराचार्य के बाद अब बाबा रामदेव ने शनि भगवान को भगवान मानने से इंकार कर दिया है। 

बाबा रामदेव खुलकर शंकराचार्य की बहस को आगे बढ़ा रहे हैं। बाबा रामदेव और द्वारका के शंकाराचार्य दोनों इस बात से इत्तिफाक नहीं रखते कि जिस शनि के प्रकोप से लोगों को भगाया या बचाया जाता है वो शनि भगवान हो सकता है। 

शंकाराचार्य स्वरुपानंद सरस्वती और बाबा रामदेव ने अब शनि की पूजा को ही गलत बताकर देश भर के शनि भगवान श्रद्धालुओं के बीच नया मुद्दा खड़ा कर दिया है। इससे पहले भी स्वरुपानंद सरस्वती साईं की पूजा को गलत बता चुके हैं। जिसके बाद स्वरुपानंद सरस्वती को विरोध झेलना पड़ा था। लेकिन शंकाराचार्य को बाबा रामदेव का समर्थन नहीं मिला था। अब सवाल ये उठता है कि हिंदू समाज में शनि को भगवान का दर्जा देना कहां तक जायज है और क्या सही मायने में शनि भगवान नहीं सिर्फ एक ग्रह है।