चांद पर जाएगा भारत के गांव का यह बेटा...

अमित शर्मा, शामली (6 अगस्त): यूपी के छोटे से जनपद शामली की तंग गलियों में से निकलकर प्रतिभावान नवीन कुमार जैन ने कुछ ऐसा कर दिखाया, जिसने शामली का नाम देश, दुनिया में ही नहीं बल्कि ब्रह्मांड तक रोशन कर दिया है। अमेरिका ने चांद पर रोबोटिक यान ले जाने का लाइसेंस जारी किया है। लाइसेंस प्राप्त करने वाली इंफो स्पेस कंपनी और मून एक्सप्रेस के फाउंडर शामली निवासी नवीन कुमार जैन हैं।

कैसे पहुंचे यहां तक...

- दरअसल नवीन कुमार जैन के दादा दाताराम गुड़ के व्यापारी थे। - 1947 में कैराना से शामली में आकर तालाब रोड जैन धर्मशाला के पास एक मकान में रहने लगे थे। - नवीन जैन का जन्म छह सितंबर 1959 को शामली में ही हुआ था। - 12वीं तक की पढ़ाई उन्होंने शामली के वीवी इंटरकॉलेज 1975 में प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण की। - नवीन के पिता नरेंद्र जैन लोक निर्माण विभाग में प्रदेश के विभिन्न जनपदों में तैनात रहे। जिसके कारण इनकी शिक्षा दीक्षा बाहर भी हुई। - इसके बाद आईआईटी रुड़की से इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के बाद एक्सएलआरआई जमशेदपुर से एमबीए किया। - कई दशक पूर्व नवीन जैन का परिवार शामली से गाजियाबाद चला गया था, बाद में वह अमेरिका चले गए। - नवीन जी दो भाई हैं। उनका भाई भी अमेरिका में ही किसी कंपनी में जॉब करता हैं। - उनके चाचा महिपाल जैन देहरादून में रहते हैं और आईएमएस यूनिवर्सिटी देहरादून में वाइस चांसलर हैं। - नवीन जैन इंफो स्पेश कंपनी के फाउंडर और पूर्व सीईओ रहे हैं। इसके अलावा मून एक्सप्रेस के फाउंडर और चेयरमैन हैं। - काफी समय तक उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट के साथ भी कार्य किया है।