देहरादून: तीन दिन पहले लगी शक्तिमान की प्रतिमा को हटाया गया

देहरादून (12 जुलाई): शक्तिमान घोड़े की मौत के बाद देहरादून में रिस्पना चौक पर बनाई गई उसकी प्रतिमा को हटवा दिया गया है। बता दें कि यह प्रतिमा तीन दिन पहले ही बनवाई गई थी, जिसे मंगलवार की सुबह सूर्यउदय होने से पहले ही उसे हटा दिया गया। 

इसे हटाने के पीछे सोशल मीडिया पर इसे लेकर सीएम हरिश रावत पर किए गए कमेंट्स बताए जा रहे हैं। गौर हो कि शक्तिमान के प्रतिमा लगाए जाने के बाद ही सोशल मीडिया पर लोगों ने सीएम हरीश रावत को आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि जब केदारनाथ में हजारों लोग जलमग्न हो गए, लेकिन लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए आज तक मूर्ति नही लगवाई गई है। जबकि राजनीतिक फायदे के लिए सीएम हरीश रावत ने शक्तिमान घोड़े की प्रतिमा लगाने में देर नहीं की।

बता दें कि बीजेपी ने भी सीएम की यह कहकर आलोचना की थी कि सीएम हरीश रावत शक्तिमान को लेकर राजनीति कर रहे हैं। रावत ने ही इस प्रतिमा को देहरादून विधानसभा के पास स्थित रिस्पना चौक पर लगवाया था और इस चौक का नाम बदलकर शक्तिमान चौक कर दिया था। 

14 मार्च को शक्तिमान के टांग टूटने से शुरू हुआ विवाद अभी थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस दिन बीजेपी विधानसभा के सामने प्रदर्शन कर रही थी तभी झड़प में घोड़े शक्तिमान का पैर टूट गया था। भाजपा विधायक गणेश जोशी पर घोड़े की टांग तोड़ने का आरोप लगा और 18 मार्च की तड़के इस आरोप में जोशी को गिरफ्तार भी किया गया था। इसके बाद शक्तिमान को बचाने की लाख कोशिश की गई लेकिन 20 अप्रैल को उसने दम तोड़ दिया।