वित्त आयोग के सदस्य शक्तिकांत दास बने RBI के नए गवर्नर

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (11 दिसंबर):  उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद वित्त आयोग के सदस्य शक्तिकांत दास को आरबीआई का नया चीफ बनाया गया है। शक्तिकांत दास इससे पहले आर्थिक मामलों के सचिव के पद पर भी अपने सेवाएं दे चुके हैं। पिछले साल वह इस पद से रिटायर हुए थे। मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले में भी इनकी प्रमुख भूमिका रही थी।

नई दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से मास्टर्स डिग्री लेने वाले शक्तिकांत दास भारत सरकार के वित्त मंत्रालय और डिपार्टमेंट ऑफ एक्सपेंडिचर के जॉइंट सेक्रटरी, तमिलनाड़ु सरकार के स्पेशल कमिश्नर और रेवेन्यू कमिश्नर, इंडस्ट्री डिपार्टमेंट के सेक्रटरी के साथ-साथ कई महत्वपूर्ण पदों पर काम किया है।बता दें कि बीते साल हुए नोटबंदी के फैसले लेने में भी शक्तिकांत दास की महत्वपूर्ण भूमिका थी। सरकार की तरफ से लिए गए इस फैसले का ड्राफ्ट बनाने वालों में दास भी शामिल थे।  

कौन हैं शक्तिकांत दास? 

26 फरवरी 1957 को जन्मे शक्तिकांत दास इतिहास में एमए और तमिलनाडु कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। वो रिटायरमेंट के बाद वर्तमान में भारत के 15 वें वित्त आयोग और भारत के शेरपा जी -20 में सदस्य हैं। उन्होंने भारत के आर्थिक मामलों के सचिव, भारत के राजस्व सचिव और भारत के उर्वरक सचिव के रूप में भी काम किया है।

केंद्रीय आर्थिक मामलों के सचिव के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान, शक्तिकांत दास को भारत के सबसे शक्तिशाली लोगों में से एक माना जाता था। आर्थिक मामलों के विभाग (डीईए) के पूर्व सचिव शक्तिकांत दास को पिछले साल जी-20 में भारत का शेरपा नियुक्त किया गया था. पिछले दिनों वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने ब्यूनस आयर्स भी गए थे।