हो गया खुलासा, इस बांग्लादेशी खिलाड़ी ने तोड़ा था ड्रेसिंग रुम का शीशा

नई दिल्ली(21 मार्च): हाल ही में संपन्न हुई निदाहास ट्रॉफी में बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच हुआ मैच काफी विवादों में रहा। मैच में बांग्लादेश ने श्रीलंका पर रोमांचक जीत दर्ज की, लेकिन उसकी ये जीत उसके कप्तान शाकिब अल हसन के व्यवहार का कारण फीकी पड़ गई। 

बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच ग्रुप स्टेज का आखिरी मैच चल रहा था और जीत के लिए दोनों टीमें जोर लगा रही थीं। इसी दौरान मस्तफिजुर रहमान रन आउट हो गए थे। दो गेंदें बाउंसर जाने के बाद बांग्लादेशी टीम को लगा था कि दूसरी गेंद को अंपायर नो-बॉल करार देंगे। हालांकि ऐसा नहीं हुआ। इस दौरान बांग्लादेश के अतिरिक्त खिलाड़ी श्रीलंकाई खिलाड़ी कुशल मेंडिस के साथ बहस में उलझे हुए थे तो बांग्लादेशी कप्तान शाकिब अल हसन सीमारेखा के पास खड़े थे। गुस्साए शाकिब ने अपने खिलाड़ियों से वापस आने को कहा।

बांग्लादेश ने इस मैच को महमूदुल्लाह के छ्क्के के साथ अपने नाम किया था। इस मैच के बाद बांग्लादेशी टीम के ड्रेसिंग रूम का एक शीशे का दरवाजा टूटने की तस्वीरें सामने आई थीं। इसके बाद यह विवाद बढ़ता ही चला गया। 

श्रीलंकाई अखबार 'द आईलैंड' की रिपोर्ट के मुताबिक मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड ने शीशा तोड़ने वाले शख्स का नाम जानने के लिए श्रीलंका और बांग्लादेश के मैच के बाद कैटरर्स से बात की थी। इस मामले की सीसीटीवी फुटेज से भी साफ नहीं हो पा रहा है कि किसने इस शीशे को तोड़ा था। हालांकि, इस अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक वर्किंग स्टाफ ने इस घटना के पीछे बांग्लादेश के कप्तान शाबिक अल हसन का हाथ बताया है।

बताया गया है कि हसन ने शीशे को जोर से धक्का दिया था, जिससे यह टूट गया। शाकिब पर उनकी मैच फीस का 25 फीसदी जुर्माना लगाया गया और आईसीसी ने उनके खाते में एक डिमेरिट अंक भी जोड़ दिया है।