पाकिस्तानी दिग्गजों ने भी किया धोनी की कप्तानी को किया याद

नई दिल्ली(6 जनवरी): पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान और आक्रामक बल्‍लेबाज शाहिद अफरीदी ने महेंद्र सिंह धोनी को दुनियाभर के क्रिकेटरों के लिए प्रेरणास्रोत बताया है। उन्‍होंने भारतीय क्रिकेट टीम को ऊंचाई पर पहुंचाने के लिए कप्‍तान के रूप में 'माही' के योगदान की सराहना करते हुए उन्‍हें महान नेतृत्‍वकर्ता और प्रेरणादायी कप्‍तान बताया है।

- महेंद्र सिंह धोनी ने बुधवार को भारतीय वनडे और टी20 की कप्‍तानी छोड़ने का निर्णय लिया है, वैसे प्‍लेयर के रूप में वे टीम इंडिया के लिए खेलते रहेंगे। पाकिस्तान के एक अन्‍य पूर्व कप्‍तान और महान बल्‍लेबाज  जहीर अब्बास ने भी धोनी के पाकिस्तान में 2005-06 के प्रदर्शन को शिद्दत से याद किया।

- जहीर अब्‍बास ने कहा कि धोनी जैसे कप्तान बार-बार पैदा नहीं होते लेकिन बतौर बल्लेबाज भी धोनी का योगदान कम नहीं है। अब्बास ने पाकिस्तान से बातचीत करते हुए,‘मुझे याद पड़ता है जब 2005-06 में भारतीय टीम पाकिस्तान दौरे पर आई थी और लाहौर में धोनी ने 46 गेंद में 72 रन बनाकर भारत को जीत दिलाई थी। वही से उसके स्टारडम की शुरूआत हुई थी जब जनरल परवेज मुशर्रफ ने सरेआम उसके हेयर स्टाइल की तारीफ की थी।’

- पाकिस्‍तान के लिए कई बेहतरीन पारियां खेल चुके जहीर अब्‍बास ने कहा,‘भारतीय क्रिकेट को धोनी का योगदान अतुलनीय है और तीनों प्रारूपों में उसके नेतृत्व में भारतीय टीम ने कामयाबी की नई बुलंदियों को छुआ।’यह पूछने पर कि बतौर कप्तान उनकी सबसे बड़ी खूबी क्या रही, अब्बास ने तुरंत जवाब दिया,‘वह मैदान पर तनाव और दबाव के क्षणों में भी काफी कूल रहता था। ऐसे 'कैप्टन कूल' बिरले ही होते हैं। इतनी सफलता मिलने के बाद भी उसके पैर जमीन पर ही रहे जो काबिले तारीफ है।’

- अब्बास ने कहा कि अभी धोनी के भीतर काफी क्रिकेट बाकी है लेकिन उन्हें लगता नहीं कि वह ज्यादा समय तक खेलेगा। उन्होंने कहा,‘उसकी अभी इतनी उम्र नहीं हुई है और कोई उसे संन्यास लेने के लिये बाध्य नहीं कर सकता। मुझे लगता है कि एक खिलाड़ी को पता चल जाता है कि उसे कब तक खेलना है और वह अपने कैरियर के आखिरी दौर में इत्मीनान से अपने खेल का मजा लेना चाहता है। धोनी ने बतौर कप्तान सब कुछ हासिल कर लिया और अब वह अपने खेल का मजा लेना चाहता होगा।’

- उन्होंने यह भी कहा कि समय समय पर धोनी ने अपनी निर्णय क्षमता से अपने आलोचकों को गलत साबित किया है। अब्बास ने कहा,‘उपमहाद्वीप में प्रशंसक काफी जज्बाती होते हैं और धोनी ने भी खराब दौर देखा है। मैने लेकिन हमेशा उसका समर्थन किया है क्योंकि कप्तान मैदान पर होता है और उसे पता होता है कि टीम के हित में क्या सही होगा। वह टीम के हित में फैसले लेता है और उसने भी वही किया।’