"अफ़रीदी हार मानने वालों में नहीं, पाक टीम में बने रहेंगे"

नई दिल्ली (11 अप्रैल) :  शाहिद अफ़रीदी को इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते करीब दो दशक हो गए हैं। हाल में टी-20 वर्ल्ड कप और उससे पहले एशिया कप में शाहिद के कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाने की वजह से पाकिस्तान में ये सवाल अब प्रमुखता से उठ रहा है कि शाहिद कब इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का एलान करेंगे। लेकिन अब भी उनका समर्थन करने वालों की कमी नहीं है।

पाकिस्तान के पूर्व फास्ट बोलर मोहम्मद ज़ाहिद का कहना है कि बूम बूम (शाहिद अफ़रीदी) कहीं नहीं जा रहे हैं। ज़ाहिद ने कहा, शाहिद ने बेशक टी20 फॉर्मेट के लिए पाकिस्तान की कप्तानी छोड़ दी हो लेकिन यकीन मानिए कि वो कहीं नहीं जाने वाले। वो यहीं बने रहेंगे।

ज़ाहिद ने अपने ब्लॉग पाकीपैशंस में लिखा है, "अगर मैं अपनी राय  बताऊं तो अब भी खेल के शार्टर फॉर्मेट्स (वनडे, टी20) में उनकी जगह बनती है। मैं आश्वस्त हूं कि वो टीम में जगह बनाए रखने के लिए सब कुछ करेंगे, वो पीछे हटने वालों में नहीं हैं।"

ज़ाहिद अब इंग्लैंड में बस चुके हैं। उन्होंने कहा कि टी20 के लिए पाकिस्तान के नए कप्तान सरफ़राज़ अहमद को कांटों का ताज मिला है। उनके लिए पाकिस्तानी खिलाड़ियों के साथ काम करना आसान नहीं होगा। ज़ाहिद के मुताबिक वो सरफ़राज़ को नए रोल के लिए बधाई देते हैं। लेकिन साथ ही उन्हें आंशकाएं भी है।    

ज़ाहिद ने कहा कि पाकिस्तान की टीम में गुटबाज़ी हमेशा से रही है। डर्टी पॉलिटिक्स का भी इसमें हिस्सा रहा है। हर कोई इससे इनकार करता है लेकिन सच यही है कि गुटबाज़ी रहती है। बता दें कि बीते मंगलवार को अफ़रीदी के टी20 फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने के एलान के बाद पीसीबी ने सरफराज़ को नया कप्तान चुना।