News

शाहीन बाग प्रदर्शन: सड़क खाली कराने पर HC ने केंद्र सरकार-पुलिस के पाले में डाली गेंद

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले लगभग 30 दिनों से प्रदर्शन हो रहे हैं। प्रदर्शन के चलते इस इलाके की कई सड़के बंद पड़ी हैं। प्रदर्शन के दौरान सड़क को जाम करने के मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने गेंद केंद्र और दिल्ली पुलिस के पाले में डाल दिया है।

 शाहीन बाग

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 जनवरी):  नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले लगभग 30 दिनों से प्रदर्शन हो रहे हैं। प्रदर्शन के चलते इस इलाके की कई सड़के बंद पड़ी हैं। प्रदर्शन के दौरान सड़क को जाम करने के मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने गेंद केंद्र और दिल्ली पुलिस के पाले में डाल दिया है। मंगलवार को इस मामले की सुनवाई के दौरान दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि संबंधित विभाग यानी कि पुलिस इस मामले में कानून के तहत काम करे। 

कोर्ट ने कहा कि पुलिस जन हित को देखते हुए काम करे। इसी के साथ ही हाईकोर्ट ने इस मामले को खत्म कर दिया। शाहीन बाग में 15 दिसंबर से स्थानीय लोग नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। ये प्रदर्शन दिल्ली से नोएडा जाने वाली सड़क पर हो रहा है। इस वजह से एक महीने से इस रुट से गुजरने वाले लोग काफी परेशान है। बता दें कि कालिंदी कुंज का रास्ता पिछले 15 दिसंबर से बंद है।

आगे पढ़े-बड़ा खुलासाः सीएए के विरोध की आड़ में देश को आतंकी हिंसा में झोंकने की खतरनाक साजिश

दरअसल शाहीन बाग के कारण दिल्ली और नोएडा को जोड़ने वाला रास्ता जो कालिंदी कुंज से होकर गुजरता है वो भी पिछले एक महीने से बंद है। उस सड़क पर 200 दुकानें हैं और सारी दुकाने बंद हैं। उस सड़क के कारण दूसरी सड़कें पूरे दिन जाम रहती हैं। एक घंटे का सफर ढाई घंटे में पूरा हो रहा है, लेकिन शाहीन बाग का वो प्रदर्शन बदस्तूर जारी है।

आपको बता दें कि शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन में महिलाओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले कहीं ज्यादा है। छोटे बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक इस विरोध का झंडा उठाए हुए हैं। नागरिकता कानून के खिलाफ भीड़ डटी है। छात्र-नौजवान नारे लगाते हैं। गीत गाते हैं। पोस्टर लहराते हैं। पैंफलेट बांटते हैं और कहते हैं सरकार नागरिकता कानून वापस ले। विरोध को पूरे 30 दिन हो गए हैं। पिछले 30 दिनों से सैकड़ों लोग सड़क पर डेरा जमाए हुए हैं। इनकी मांग है कि सरकार नागरिकता कानून पर अपना फैसला बदले।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top