पाकिस्तान ने फिर दिखाया रंग, कुरैशी बोले-इमरान की 'गुगली' में फंसा भारत


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (30 नवंबर): कहते हैं चोर चोरी से जाए हेरा फेरी से ना जाए ऐसा की कुछ हमारे पड़ोसी पाकिस्तान का है। पाकिस्तान के विदेशमंत्री शाह महमूद कुरैशी ने विवादित बयान दिया है। करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के ज़रिए पाकिस्तान ने दोस्ती का हाथ तो बढ़ाया लेकिन इस दोस्ती के मुखौटे के पीछे पाक की बेहद खौफनाक साज़िश छिपी हुई है। करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक बेहद सनसनीखेज बयान दिया है।शाह महमूद कुरैशी ने ये साफ कर दिया कि पाकिस्तान ने भारत को अपने जाल में ट्रैप कर लिया है। कुरैशी ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर के ज़रिए पाक के वज़ीर-ए-आज़म इमरान खान ने गुगली फेंकी और भारत उस गुगली में फंस गया।

पाकिस्तानी विदेश मंत्री खुले मंच से ये कह रहे हैं कि इमरान खान की गुगली ने भारत को मजबूर कर दिया और भारत के दो मंत्रियों को पाकिस्तान आना पड़ा। कुरैशी जब खुलेआम पाक की नापाक साज़िश का भद्दा खुलासा कर रहे थे। तब दोस्ती, प्यार और अमन की बात करने वाले इमरान खान भी मौजूद थे। करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास पर इमरान खान ने दुनिया को दिखाने के लिए बेहद मीठी-मीठी बातें की थीं।  दोस्ती और अमन-शांति का खोखला वादा किया था, लेकिन उन्ही के विदेश मंत्री ने उन्हीं के सामने उन्हीं को बेनकाब कर दिया। एक बार सुनिए किस तरह इमरान खान ने करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के पाक मौके पर दोस्ती का दोगला राग अलापा था।

 इमरान खान इतिहास भुलाकर नए रिश्ते की नींव रखने की बात तो कर रहे थे, लेकिन इसके सबके पीछे पाकिस्तान के असली इरादे कुछ और ही थे। वैसे पाकिस्तान और इमरान की नियत पर उसी वक्त सवाल उठ गए थे जब इमरान के सरकारी कार्यक्रम में भारत के दुश्मन गोपाल सिंह चावला को मेहमान बनाया गया था। वहीं गोपाल सिंह चावला जो आतंकी हाफिज सईद का करीबी है। वहीं गोपाल सिंह चावला जो  पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का महासचिव है और भारत के टुकड़े करके खालिस्तान बनाना चाहता है। भारत का ये दुश्मन दोस्ती का ढोंग करने वाले इमरान का महमान था, लेकिन इसके बावजूद अगर पाकिस्तान की कायराना साज़िश पर कोई शक रह गया हो तो उसे पाकिस्तान के ही विदेश मंत्री ने खत्म कर दिया। एक बार फिर शाह महमूद कुरैशी का वो बेशर्म बयान सुनिए जिससे पाकिस्तान बेनकाब हो रहा है।

शाह महमूद कुरैशी के इस सनसनीखेज बयान से एक बात साफ है कि पाकिस्तान, हिंदुस्तान के साथ अब तक का खतरनाक खेल खेल रहा है। स्क्रिप्ट पाकिस्तानी फौज और आईएसआई की है और मुखौटा हैं इमरान।  और इसलिए ये कहना गलत नहीं होगा कि इमरान खान की मीठी छुरी भारत के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकती है। आतंकियों के सरगना आतंकियों के दोस्त और आतंकियों के सरपरस्त के साथ खड़े होकर अमन की बात करने वाले इमरान से हिंदुस्तान को हर कदम पर सावधान रहने की जरूरत है।