योगी सरकार की राह पर नीतीश सरकार, बिहार में बंद कराए गए 7 अवैध बूचड़खाने

नई दिल्ली ( 1 अप्रैल ): उत्तर प्रदेश और झारखंड में अवैध बूचड़खानों पर लगी रोक के बाद अब बिहार में भी इस पर रोक लगाने की तैयारी की जा रही है। उत्तर प्रदेश में बूचड़खानों पर कार्रवाई के बाद अब बिहार में भी कार्रवाई शुरू हो गई है। बिहार में रोहतास जिले के सात अवैध बूचड़खानों को बंद करा दिया गया है।


पटना हाईकोर्ट ने नीतीश सरकार को अवैध बूचड़खाने पर कार्रवाई करने को कहा था। हाईकोर्ट ने कहा था कि सबसे पहले रोहतास में सभी अवैध बूचड़खानों को 6 हफ्तों के भीतर बंद कर दिया जाए। 31 मार्च तक लाइसेंस रिवन्यू नहीं होने की वजह से रोहतास के बिक्रमगंज में जिला प्रशासन ने 7 बूचड़खाने सील कर दिए।


सदन में बीजेपी नेताओं ने अवैध तरीके से चल रहे बूचड़खानों पर रोक लगाने की मांग की थी। बल्कि उन बूचड़खानों को जिनको लाइसेंस जारी किया है, उनके लाइसेंस को भी रद्द करने की बात कही थी। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह समेत कई नेताओं ने बूचड़खाना बंद करने की मांग दोहरायी थी।


वहीं, इस मामले में पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री अवधेश कुमार सिंह ने कहा था कि राज्य में अवैध बूचड़खाने बंद होंगे। मंत्री ने बताया कि विभाग ने इसके लिए सभी जिलाधिकारियों को सर्वेक्षण करने का आदेश दिया है।